तस्लीमा नसरीन ने मदर टेरेसा पर लगाए बेहद गंभीर आरोप, बताया ‘अपराधी’

लाइव सिटीज डेस्क : मासूम बच्चों को बेचने का आरोप झेल रही भारत रत्न मदर टेरेसा की संस्था ‘मिशनरीज ऑफ चैरिटी’ की मुश्किलें कम नहीं हो रही है. आरएसएस और बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं ने कहा है कि रांची के मिशनरीज ऑफ चैरिटी के केंद्रों से बच्चे बेचने की बात सही साबित होती है तो दिवंगत मदर टेरेसा को दिया भारत रत्न सम्मान वापस लेना चाहिए. साथ ही बांग्लादेश की निर्वासित लेखिका तस्लीमा नसरीन ने इस घटनाक्रम का जिक्र करते हुए कहा है कि मदर टेरेसा चैरिटी होम बच्चों को बेचता रहा है, इसमें कुछ भी नया नहीं है.

मदर टेरेसा चैरिटी होम बच्चों को बेचता है

तस्लीमा नसरीन ने शांति की नोबेल पुरस्कार विजेता मदर टेरेसा को बर्बर कृत्यों से जुड़ी रहने वाली कहा है. उन्होंने कहा है कि अपराधियों के पक्ष में सिर्फ इसलिए बयान नहीं देना चाहिए क्योंकि वे प्रसिद्ध हैं. तस्लीमा नसरीन ने कहा, ‘मदर टेरेसा चैरिटी होम बच्चों को बेचता है, इसमें कुछ भी नया नहीं है. मदर टेरेसा कई अवैध, अमानवीय, अनैतिक, अनएथिकल, असैद्धांतिक, दुष्ट, धोखाधड़ी और बर्बर कृत्यों से जुड़ी थीं. कृपया सिर्फ इसलिए अपराधियों की रक्षा करने की कोशिश न करें क्योंकि वे प्रसिद्ध हैं.’

इसके पहले बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मदर टेरेसा द्वारा स्थापित इस संस्था का समर्थन करते हुए कहा था कि उसे ‘दुर्भावनावश और बदनाम करने के लिए’ लक्षित किया जा रहा है. बता दें कि मदर टेरेसा हमेशा आरएसएस के निशाने पर रहती हैं. साथ ही तसलीमा नसरीन पहले भी मदर टेरेसा पर कई आरोप लगा चुकी हैं.

क्या है पूरा मामला?

ये मामला तब सामने आया था जब इस साल मई में मिशनरीज ऑफ चैरिटी से जुड़े होम से एक नवजात शिशु को एक दंपति ने 1.20 लाख रुपए में लिया था. इस दंपति से नवजात के जन्म और चिकित्सा देखभाल के नाम पर ये रकम ली गई थी. दंपति का आरोप है कि चैरिटी संस्थान की ओर से ये आश्वासन देकर बच्चा वापस ले लिया कि प्रक्रिया पूरी होने के बाद बच्चा लौटा दिया जाएगा. जब बच्चा वापस नहीं मिला तो दंपति ने इसकी शिकायत चाइल्ड वेलफेयर कमेटी से कर दी.

यह भी पढ़ें : BJP पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से दिल्ली का सफर तय करने की तैयारी में, मुलायम के गढ़ में मोदी की रैली

About Razia Ansari 1935 Articles
बोल की लब आज़ाद हैं तेरे, बोल जबां अब तक तेरी है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*