बीजेपी ने नहीं दिया टिकट तो रो पड़े सरताज सिंह, फिर जो किया उससे स्तब्ध रह गये भाजपाई

सरताज सिंह का फाइल फोटो.

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : मिशन 2019 की तैयारी में पूरा देश लगा हुआ है. लेकिन इसके पहले कई राज्य विधानसभा के चुनावी मोड में हैं. टिकट बांटे जा रहे हैं. नहीं मिलने वाले नाराज भी हो रहे हैं. लेकिन मध्य प्रदेश में बीजेपी को स्थानीय नेता झटका देने में लगे हुए हैं. पिछले सप्ताह वहां के सीएम के साला ने जहां कांग्रेस का दामन थाम लिया. वहीं गुरुवार को भी भाजपा के एक बड़े नेता खिसिया कर कांग्रेस में चले गये.

दरअसल मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव पूरे उफान पर है. रुठने-मनाने और भागने-भगाने का दौर जारी है. गुरुवार को बीजेपी ने विधानसभा चुनाव को लेकर तीसरी सूची जारी की. इसमें कुछ नेता जहां गदगद हैं, वहीं कई वरीय नेता निराश. लेकिन टिकट नहीं मिलने से नाराज पूर्व मंत्री सरताज सिंह ने एक झटके में पार्टी छोड़ दी.

बताया जाता है कि पूर्व मंत्री सरताज सिंह भाजपा के वरीय व समर्पित नेता हैं. उन्हें टिकट मिलने की प्रबल संभावना थी. सरताज सिंह को भी अपने आलाकमान से काफी उम्मीद थी. लेकिन यह क्या, जब टिकट की तीसरी सूची भाजपा ने जारी की तो उनके होश ठिकाने लग गये.

उस समय सरताज सिंह सिवनी मालवा में थे. कार्यकर्ताओं को वे संबोधित कर रहे थे. तभी तीसरी सूची की उन्हें जानकारी हुई. तीसरी सूची में भी अपना नाम न देखकर सरताज रो पड़े. उन्होंने कहा कि मैं घर में बैठकर घुट-घुट कर रोने वालों में से नहीं हूं. मैं लड़ूंगा तो मैदान में और मरूंगा तो जंग केे मैदान में ही.

आनन-फानन में सरताज सिंह ने कांग्रेस की ओर से नामांकन फॉर्म खऱीद लिया. पहले वह कह रहे थे कि टिकट न मिलने पर मैं निर्दलीय लड़ूंगा, लेकिन लास्टली वे कांग्रेस में शामिल हो गए. हालांकि उन्हें मनाने के लिए भाजपा के संगठन मंत्री उनके घर पर गए. लेकिन वे नहीं माने. वे होशंगाबाद में एक कार्यक्रम में कांग्रेस का दामन थाम लिया.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*