MeToo : यौन शोषण के आरोप में फंसे एमजे अकबर पर गोलमोल जवाब दे रहे हैं BJP के मंत्री

लाइव सिटीज डेस्क: MeToo मूवमेंट के बाद रोज हो रहे खुलासों पर देशभर में बहस छिड़ी हुई है. MeToo कैंपेन के बाद एक्शन में आई मोदी सरकार ने जहां ऐसे मामलों की जांच के लिए कमेटी गठित करने का फैसला लिया है, वहीं इस कैंपेन की गिरफ्त में फंसे केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने विदेश राज्यमंत्री एम जे अकबर का बचाओ किया है.

अकबर और महिलाओं के बीच का मामला- उमा

उमा ने इसे अकबर और महिलाओं के बीच का मामला बताया है. मध्य प्रदेश के सागर में राजमाता विजयाराजे सिंधिया की जन्म शताब्दी के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंची उमा ने इस मामले में मीडिया के सवाल का जवाब देते हुए कहा, ‘मैं इस मामले पर कुछ नहीं कहना चाहती. अकबर से जुड़ा मामला तब का है जब वह केंद्र सरकार में मंत्री नहीं थे. यह मामला पूरी तरह महिला और अकबर के बीच है. लिहाजा मैं इस पर कुछ नहीं कह सकती.’

पत्रकारों ने जब उमा से पूछा कि आप हमेशा महिलाओं के हितों की बात करती रही है, लेकिन इस मामले पर पीछे क्यों हट रही हैं, तो केंद्रीय मंत्री इसके बाद भी इस पर कुछ नहीं बोलीं और चुप्पी साधे रखी. इससे पहले केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने #MeToo मूवमेंट के तहत सामने आ रहे मामलों की जांच के लिए कमिटी बनाने की बात कही है.

देखना पड़ेगा कि यह सच है या गलत-अमित शा

वहीं इस कैंपेन की गिरफ्त में फंसे केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर अब भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने बयान दिया है. शाह ने अकबर पर लगे शोषण के आरोपों पर कहा है कि देखना पड़ेगा, ये सच हैं या गलत. उन्होंने कहा, ‘देखना पड़ेगा कि यह सच है या गलत. हमें उस शख्स के पोस्ट की सत्यता जांचनी होगी, जिसने आरोप लगाए हैं. मेरा नाम इस्तेमाल करते हुए भी आप कुछ भी लिख सकते हैं.’ हालांकि, इस मामले की जांच की जाएगी या नहीं, इस पर उन्होंने कोई ठोस जवाब नहीं दिया. लेकिन शाह ने इतना जरूर कहा कि ‘इस पर जरूर सोचेंगे.’

यह भी पढ़ें- RERA Approved वीआईपी रेजीडेंसी हो चला तैयार, अभी बुकिंग पर Alto Car फ्री

#MeToo के बाद अब ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है #NOMeansNO, लोग पोस्ट कर रहे हैं फिल्म PINK का डायलॉग

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*