मकर संक्रांति पर श्रद्धालु नहीं कर सकेंगे गंगा स्नान, पटना जिला प्रशासन ने लगायी रोक, तैनात रहेगी पुलिस

लाइव सिटीज, पटना डेस्क: मकर संक्रांति (Makar Sankranti) में श्रद्धालु गंगा (Ganga) स्नान नहीं कर सकेंगे. बढ़ते कोरोना को देखते हुए पटना जिला प्रशासन ने आदेश जारी किया है. पटना जिलाधिकारी (Patna DM) डॉक्टर चंद्रशेखर सिंह (Doctor Chandrashekhar Singh) ने आदेश में साफ कहा है कि पटना समेत जिले के अन्य गंगा घाटों पर स्नान की मनाही रहेगी. यहां तक की तालाबों में श्रद्धालुओं के स्नान करने पर रोक लगा दी गयी है.

जिलाधिकारी डॉक्टर चंद्रशेखर सिंह और एसएसपी (SSP Manavjeet Singh Dhillo) मानवजीत सिंह ढिल्लो ने संयुक्त रूप से निर्देश जारी किया है. मकर संक्रांति के दिन पटना के गंगा घाटों और तालाबों पर मजिस्ट्रेट और पुलिस बल की तैनाती रहेगी. ताकि कोई श्रद्धालु स्नान के लिए ना जा सके. साथ ही पटना में गंगा में नाव के परिचालन पर भी उस दिन रोक रहेगी. जिला प्रशासन ने अपने-अपने घरों में स्नान करने और पर्व मनाने की अपील की है.

बता दें कि बिहार में कोरोना की रफ़्तार बेकाबू होती जा रही है. दिन प्रतिदिन कोरोना के केसेज तेजी से बढ़ रहे हैं. बिहार के सियासी गलियारे में भी कोरोना संक्रमण तेजी से फ़ैल रहा है. पिछले 24 घंटे में बिहार मेंएक बार फिर कोरोना के केसेज तेजी से बढ़े हैं. बिहार में पिछले 24 घंटे में 6393 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. जिसमें सबसे ज्यादा राजधानी पटना में नए संक्रमित मिले हैं.

12 जनवरी 2022 तक बिहार में एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 31, 374 के पार हो गई है. पिछले 24 घंटे में पटना में सबसे ज्यादा 2275 नए केस मिले हैं, जबकि नालंदा में 215, बेगूसराय में 209 और भागलपुर 273 कोरोना के नए केस मिले हैं. कल भी बिहार में 6 हजार से ज्यादा कोरोना के नए केस मिले थे.

बिहार स्वास्थ्य विभाग के अनुसार विगत 24 घंटे में कुल 1,80,407 सैम्पल की जांच हुई है. अबतक कुल 7,21,684 मरीज ठीक हुए हैं. बिहार में कोरोना मरीजों का रिकवरी प्रतिशत 94.65 है. बिहार में विगत 24 घंटे में 2802 मरीज स्वस्थ हुए. बिहार में तेजी से कोरोना का केस बढ़ता जा रहा है. ऐसे में लोगों को ज्यादा सावधान होने की जरुरत है.