‘कोरोना मरीज के इलाज में कोताही बर्दाश्त नहीं’ सीएम नीतीश ने अधिकारियों को दिए निर्देश, की हाईलेवल मीटिंग

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की उच्च स्तरीय बैठक खत्म हो गयी. बैठक में डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद, रेणु देवी, चीफ सेक्रेटरी त्रिपुरारी शरण, स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत समेत वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सभी जिलों के डीएम और एसपी शामिल हुए. हाईलेवल मीटिंग में तमाम उस एस्पेक्टस पर विचार विमर्श किया जिससे संक्रमण की चेन के तोड़ा जा सके. सभी अधिकारियों की राय से सीएम नीतीश अवगत हुए.

उच्च स्तरीय बैठक में मौजूद लोग और वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े सभी डीएम और एसपी से फीडबैक लेने के बाद सीएम नीतीश ने कई निर्देश दिए. उन्होंने अधिकारियों से साफ तौर पर कहा कि कोरोना मरीज के इलाज में कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी. कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने और कराने को लेकर उन्होंने पुलिस प्रशासन को निर्देश दिया.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अधिकारियों से कहा कि अनावश्यक रूप से घर से बाहर निकलने वालों पर विशेष नजर रखी जाए. अनुमंडल स्तर पर कोरोना मरीज का इलाज कराने की व्यवस्था की जाए. बैठक में आईएमए की मांगों पर भी विचार विमर्श किया गया. आईएमए ने बिहार में लॉकडाउन लगाने की मांग की है. इसके साथ ही कोर्ट ने भी राज्यों से लॉकडाउन लगाने पर विचार करने की  बात कहीं है.

बताया जा रहा है कि कल क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक होगी. आपदा प्रबंधन ग्रुप की बैठक में मीटिंग की बातों पर विस्तार से चर्चा किया जाएगा. बिहार में लॉकडाउन लगाने को लेकर अधिकारियों से मिली फीडबैक पर भी विचार किए जाने की संभावना है. जानकारों की मानें तो कल की बैठक में बिहार में लॉकडाउन लगाने की प्रबल संभावना है. एक सप्ताह या फिर दो सप्ताह का लॉकडाउन लग सकता है.