अरविंद केजरीवाल को बड़ा झटका, आप के 20 विधायकों अयोग्य करार, राष्ट्रपति की लगी मुहर

लाइव सिटीज डेस्क : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अब तक का सबसे बड़ा झटका लगा है. राजनीति में इस तरह का झटका शायद ही किसी को लगा होगा. आप के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द कर दिया गया है. रविवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस पर अपनी मुहर लगा दी. इसे लेकर आप में हड़कंप मच गया है. हालांकि आप ने कल ही मन में बैठा लिया था कि उनकी पार्टी को तगड़ा झटका लगने वाला है. इसके लिए पार्टी के लोग मानसिक तौर पर खुद को तैयार कर लिये थे.

देश के पॉलिटिकल कॉरिडोर में जिस तरह की बात सामने आ रही थी, उसी के अनुसार रिजल्ट भी सामने आया है. मीडिया में आ रही रिपोर्ट के अनुसार आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द कर दी गयी है. रविवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने चुनाव आयोग के निर्णय पर अपनी मुहर लगा दी. ऑफिस ऑफ प्रॉफिट मामले में चुनाव आयोग की सिफारिशों को राष्ट्रपति ने मंजूरी दे दी.

गौरतलब है कि आप के इन 20 विधायकों को संसदीय सचिव बनाया गया था. इसी को लेकर विपक्ष लगातार हंगामा किये हुए था. बाद में मामला चुनाव आयोग में गया. चुनाव आयोग ने उन विधायकों को ऑफिस ऑफ प्रॉफिट मामले में अयोग्य माना और अंतिम मुहर के लिए अपनी सिफारिश राष्ट्रपति को भेजा. इसे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वीकार कर लिया.

बता दें कि इससे पहले 20 विधायकों की सदस्यता रद्द होने को लेकर आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बैठक की. इसमें कहा गया था कि चुनाव आयोग की कार्रवाई असंवैधानिक व अलोकतांत्रिक है. विधायक अपना पक्ष रखने के लिए अब राष्ट्रपति का दरवाजा खटखटाएंगे. उक्त बैठक में 20 विधायकों के साथ उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और अन्य पार्टी के वरिष्ठ नेता मौजूद थे. सिसोदिया ने आरोप लगाया कि चुनाव आयोग ने बगैर हमारे विधायकों को सुने ही उनकी सदस्यता रद्द करने की सिफारिश कर दी है. यह किसी भी तरह लोकतांत्रिक नहीं है. हालांकि रविवार को इस पर राष्ट्रपति ने अपना निर्णय ले लिया. इससे आप को बड़ा तगड़ा झटका लगा है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*