दिव्यांगों के कार्यक्रम में पहुंचे थे बीजेपी के मंत्री बाबुल सुप्रियो, दे डाली ‘टांग तोड़ने’ की धमकी

asansol, Babul Supriyo, BJP, differently abled, West Bengal, पश्चिम बंगाल, बाबुल सुप्रियो

लाइव सिटीज डेस्क: आसनसोल से सांसद और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो हमेशा अपने विवादित बयान को लेकर चर्चा में रहते हैं. अब एक बार फिर उनके एक बयान से विवाद खड़ा हो गया है. इस बार उन्होंने पश्चिम बंगाल के आसनसोल में दिव्यांगों के लिए आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान एक शख्स को ‘टांग तोड़ डालने’ की धमकी दे डाली. दिव्यांगों को व्हीलचेयर तथा अन्य आवश्यक उपकरण दान करने की खातिर आयोजित किए गए सामाजिक अधिकारिता शिविर में आमंत्रित बाबुल सुप्रियो जनता में से किसी शख्स से किसी बात पर नाराज़ हो गए, और बोले, “क्यों हिल रहे हो…? प्लीज़ बैठ जाओ…”

अचानक आपा खो बैठे बाबुल सुप्रियो

पश्चिम बंगाल के आसनसोल स्थित नजरुल मंच में मंगलवार को एक कार्यक्रम में शामिल हुए केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो अचानक आपा खो बैठे और एक शख्स को पैर तोड़ने तक की धमकी दे दी. मंत्री का विवादास्पद बयान तब आया, जब शख्स लगातार और बार-बार हिल-डुलकर उनका ध्यान बंटाता रहा. बताया जाता है, मंत्री ने उस वक्त गुस्से में आकर उस शख्स से कहा, “आपको क्या हुआ है…? कोई दिक्कत है…? मैं आपकी एक टांग तोड़ सकता हूं, और बैसाखी दे सकता हूं…”

इसके बाद बाबुल सुप्रियो ने अपने सुरक्षाधिकारियों से उस शख्स की टांग तोड़कर बैसाखी थमा देने के लिए कहा, अगर वह अपनी जगह से हिले. फिर उन्होंने वहां मौजूद जनता से भी उस शख्स के लिए तालियां बजाने का आग्रह किया.

पहले भी दे चुके हैं विवादित बयान

गायक से नेता बने बाबुल सुप्रियो आसनसोल से सांसद हैं. इससे पहले उन्होंने पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश समेत देश के तमाम हिस्सों में पिछले दिनों महिलाओं के साथ दुष्कर्म और छेड़छाड़ की घटनाओं पर भी विवादित बयान दिया था. सुप्रियो ने कहा था कि महिलाओं को सुरक्षा के लिए मां काली की तरह अपने हाथों में तलवार उठा लेनी चाहिए. इसी साल मार्च में आसनसोल में ही रामनवमी समारोह के दौरान सांप्रदायिक हिंसा का शिकार हुए इलाकों का दौरा करने गए थे, और वहां उन्होंने प्रदर्शन कर रही भीड़ को ‘खाल खिंचवा देने’ की धमकी दी थी.

यह भी पढ़ें- आॅनर किलिंग : तेलंगाना टू बिहार कनेक्शन में बड़ा खुलासा, एक करोड़ की दी गयी थी सुपारी

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*