रिहा होते ही भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर का बड़ा हमला, कहा- 2019 में करेंगे BJP का सफाया

Chandrashekhar, Chandrashekhar ravan, Bhim Army Chief, NSA, Saharanpur caste violence, dalit, 2017 Saharanpur caste violence चंद्रशेखर रावण, भीम आर्मी, up news, UTTAR PRADESH NEWS, hindi news, Lucknow news,

लाइव सिटीज डेस्क: भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर उर्फ रावण आधी रात को जेल से रिहा कर दिया गया. योगी सरकार ने रिहाई का फैसला लिया था. लेकिन अब लगता है यह बीजेपी पर ही भारी पड़ने वाला है. जेल से रिहा होते ही रावण ने बीजेपी पर हमला बोल दिया. सहारनपुर में 2017 में हुई जातीय हिंसा के मुख्य आरोपी चंद्रशेखर उर्फ रावण को एनएसए (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) के तहत जेल भेजा गया था. वह लगभग 16 महीने से जेल में बंद था. रावण को गुरुवार रात करीब 2:24 बजे जेल से रिहा किया गया. रावण की रिहाई के दौरान काफी समर्थक जेल के बाहर जमा रहे. जेल के चारों तरफ कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी.

रावण ने बीजेपी पर बोला हमला

सहारनपुर की जेल रिहाई के तुरंत बाद चंद्रशेखर ‘रावण’ ने एक सभा को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने बीजेपी पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि सरकार को सुप्रीम कोर्ट की तरफ से फटकार लगाई जा रही थी जिससे सरकार डरी हुई थी, इसलिए उन्होंने खुद को बचाने के लिए जल्दी रिलीज का आदेश दिया. मैं आश्वस्त हूं कि वह 10 दिनों के भीतर मेरे खिलाफ कुछ न कुछ आरोप लगाएंगे. मैं 2019 में भाजपा को सत्ता से बाहर करने के लिए अपने लोगों से बात करूंगा. चंद्रशेखर ने अपने हाथों में संविधान की एक प्रति को दिखाते हुए कहा कि अभी तो लड़ाई शुरू हुई है.

बीजेपी को उलटा पड़ा दाव

उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार के इस फैसले को 2019 के एक चुनावी दांव के रूप में भी लिया जा रहा था. माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव से पहले भीम आर्मी और दलितों की नाराजगी को दूर करने के लिए योगी सरकार ने यह फैसला लिया. हालांकि रिहाई के तुरंत बाद चंद्रशेखर ने जिस तरह से बीजेपी पर निशाना साधा है उससे सवाल खड़ा हो रहा है कि कहीं यह दांव उल्टा न पड़ जाए.

वेस्ट यूपी में भीम आर्मी का बड़ा प्रभाव है

भीम आर्मी का पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बड़ा प्रभाव है. भीम आर्मी दलित आंदोलन के सहारे इस क्षेत्र में अपनी जड़ें और गहरी करना चाहती है. बीजेपी के शीर्ष नेताओं ने भी स्‍वीकार किया है कि कैराना और नूरपुर में हुए उपचुनाव में बीजेपी की हार की एक बड़ी वजह भीम आर्मी थी. बीजेपी का मानना है कि इन इलाकों में भीम आर्मी ने दलितों और मुस्लिमों को एकजुट करने में सफलता पाई है.

यह भी पढ़ें – योगी सरकार का बड़ा फैसला, भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर रावण होंगे रिहा

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*