बिहार के बाद अब गोवा में आंदोलन तेज, कांग्रेस बोली- राज्यपाल हमें दें सरकार बनाने का न्यौता

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : कर्नाटक के नाटक का साइड इफेक्ट अब बिहार से होते हुए गोवा पहुंचा. कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी भाजपा को सरकार बनाने का न्यौता दिए जाने पर भाजपा चौतरफा घिर गई है. बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सिंगल लार्जेस्ट पार्टी को लेकर अपना आंदोलन तेज कर दिया है. तेजस्वी यादव ने कर्नाटक की तरह बिहार में भी सिंगल लार्जेस्ट पार्टी को सरकार बनाने का निमंत्रण देने की मांग राज्यपाल की है. वे शुक्रवार को राज्यपाल से मिलेंगे भी. लेकिन अब बिहार की तरह गोवा में भी सियासी हलचल तेज हो गयी है.

बिहार की तरह गोवा में सिंगल लार्जेस्ट पार्टी को सरकार बनाने की मांग उठने लगी है. गुरुवार को ही गोवा में कांग्रेस ने सिंगल लार्जेस्ट पार्टी को सरकार बनाने का मौका दिये जाने की मांग वहां के राज्यपाल से की है. कांग्रेस ने कहा कि पिछले साल गोवा विधानसभा चुनाव में हमारी पार्टी ने सबसे ज्यादा सीटें जीती थीं. इस लिहाज से राज्यपाल कांग्रेस को गोवा में सरकार बनाने के लिए बुलाएं. जरूरत पड़ी तो कांग्रेस विधायकों की परेड कराने के लिए भी तैयार हैं.

गोवा से मीडिया में आ रही खबर के अनुसार कांग्रेस नेता यतीश नाइक ने कहा कि 2017 में कांग्रेस ने सबसे ज्यादा 17 सीटें जीती थीं और हम विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी हैं, पर राज्यपाल ने 13 सीट जीतने वाली भाजपा को सरकार बनाने के लिए बुलाया. उन्होंने यह भी कहा कि कर्नाटक में राज्यपाल ने सबसे ज्यादा सीट जीतने वाली भाजपा को सरकार बनाने का न्यौता दिया, तो फिर गोवा में क्यों नहीं. इसलिए हमलोग गोवा के राज्यपाल से अपील करते हैं कि वे कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए बुलाएं.

तेजस्वी ने पूछा : देश क्या अलग-अलग नियम से चलेगा, हमारा दावा सबसे मजबूत

कांग्रेस सूत्रों के अनुसार गोवा प्रभारी चेल्ला कुमार पणजी के लिए निकल गये हैं. वे पणजी में पार्टी नेताओं के साथ राज्यपाल से मुलाकात करेंगे. इस दौरान कांग्रेस मांग करेगी कि राज्य में सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते कांग्रेस को गोवा में सरकार बनाने का मौका दें. अगर जरूरत पड़ी तो कांग्रेस राजभवन में विधायकों की परेड भी कराएगी. बता दें कि बिहार में राजद ने सिंगल लार्जेस्ट पार्टी को लेकर अपना आंदोलन तेज कर दिया है. वे बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक से शुक्रवार को मिलेंगे और सिंगल लार्जेस्ट पार्टी राजद को सरकार बनाने का न्यौता देने की मांग करेंगे.

गौरतलब है कि 2017 के चुनाव में गोवा में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला था. तब भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार मनोहर पर्रिकर ने 21 विधायकों के समर्थन के साथ सरकार बनाने का दावा किया था. भाजपा ने 14 मार्च 2017 को विधानसभा में बहुमत साबित किया. भाजपा के पास 13 विधायक थे. उसे महाराष्‍ट्रवादी गोमांतक पार्टी और गोवा फॉरवर्ड पार्टी के तीन-तीन और 2 निर्दलीय विधायकों ने समर्थन दिया था. पर्रिकर की शपथ के बाद एक और निर्दलीय विधायक ने समर्थन दे दिया था. इस लिहाज से उनके पास 22 विधायक हैं.

यह है गोवा की स्थिति
– कुल सीटें : 40
– कांग्रेस : 17
– भाजपा : 13

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*