‘एक देश एक चुनाव’ के लिए इलेक्शन कमीशन तैयार, लेकिन रख दी है शर्त…

election
चुनाव आयोग (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क : एक देश एक चुनाव का मुद्दा पूरे देश में इन दिनों छाया हुआ है. इसे लेकर बीच-बीच में बिहार की सियासत भी गरम हो जाती है. बयानों की जंग होने लगती है. पिछले दिनों जदयू ने भी एक साथ चुनाव कराने को लेकर हामी भरी थी तो कांग्रेस खुलकर सामने आ गयी थी और साफ-साफ कह दिया था कि हम किसी भी चुनाव के लिए तैयार हैं. वहीं राजद एकसाथ चुनाव के पक्षधर नहीं है. इसी पर अब नये मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत का  मीडिया में बड़ा बयान आया है.

गौरतलब है कि देश को नया चुनाव आयुक्त मिल चुका है. मुख्य चुनाव आयुक्त एके जोति दो दिन पहले रिटायर हो चुके हैं. 22 जनवरी को वे सेवानिवृत हुए हैं. जोति की जगह नये चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कुर्सी संभाल ली है. वे मध्य प्रदेश काडर के आईएएस अधिकारी हैं और झांसी के रहनेवाले हैं.

मीडिया में आ रही रिपोर्ट के अनुसार नये मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि अगर देश में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ कराने पर सहमति बनती है, तो आयोग चुनाव कराने को तैयार है. इसके लिए चुनाव आयोग कभी पीछे नहीं हटेगा. उन्होंने कहा कि एक देश एक चुनाव के लिए सभी राजनीतिक दलों के बीच सहमति बननी जरूरी है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ओपी रावत ने यह भी कहा कि स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराना चुनाव आयोग की जिम्मेदारी है. लेकिन एक देश एक चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों को तय करना है. अगर उनमें सहमति बनती है तो आयोग को ऐसा कराने में कोई परेशानी नहीं है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*