चारा घोटाला : लालू प्रसाद की ओर से चाईबासा कोषागार मामले में बहस पूरी

lalu_prasad_story
लालू प्रसाद (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज डेस्क : चारा घोटाला को लेकर झारखंड से एक और खबर आ रही है. यह खबर भी राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद से जुड़ी है. रांची के सीबीआई कोर्ट में चारा घोटाले के एक अन्य मामले में चल रही सुनवाई में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की ओर से बहस पूरी हो गयी है. यह मामला चाईबासा कोषागार से जुड़ा हुआ है. हालांकि इस मामले में बाकी आरोपियों की ओर से बहस अभी जारी रहेगी. उम्मीद है कि जल्द ही चाईबासा मामले में भी सुनवाई पूरी होकर फैसले के बिंदु पर फैसला होगा.

बता दें कि बुधवार 13 दिसंबर को चारा घोटाले के देवघर कोषागार मामले में सुनवाई पूरी हो गयी है. अब 23 दिसंबर को फैसले के बिंदु पर सुनवाई होनी है. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट में चारा घोटाला मामले को लेकर इसी साल मई में बड़ी सुनवाई हुई थी. 8 मई को हुई सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने स्पीडी ट्रायल के तहत सुनवाई करने के लिए सीबीआई से कहा था. सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा था कि नौ माह के अंदर चारा घोटाला मामलों पर सुनवाई पूरी हो. इसके बाद रांची सीबीआई कोर्ट में युद्धस्तर पर हर सप्ताह सुनवाई हो रही है.



चारा घोटाला : लालू प्रसाद जेल जाएंगे या बाहर रहेंगे, फैसला 23 दिसंबर को

शुक्रवार को रांची के सीबीआई कोर्ट में चाईबासा कोषागार से जुड़े मामले की सुनवाई हुई. यह मामला कांड संख्या आरसी 68ए/96 के तहत दर्ज किया गया है. इसमें भी करोड़ों रुपये की हेराफेरी किये जाने का आरोप है. मामले को लेकर पिछले तीन-चार माह से राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद, पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा, आरके राणा, ध्रुव भगत समेत अन्य आरोपी हर सप्ताह रांची का चक्कर लगा रहे हैं. चाईबासा कोषागार मामले में शुक्रवार को लालू प्रसाद की ओर से बहस पूरी हो गयी. इन्होंने अपनी ओर से सारे गवाहों को पेश कर दिया. वहीं अब बाकी के अन्य आरोपियों की ओर से बहस चलेगी. लेकिन सुप्रीम कोर्ट की डेडलाइन के बाद उम्मीद है कि एक-दो सप्ताह में चाईबासा कोषागार व दुमका कोषागार मामलों की सुनवाई पूरी हो जाएगी. इसके बार फैसले व सजा ​के बिंदु पर फाइनल सुनवाई होगी.

चारा घोटाला में दोषी सजल चक्रवर्ती को 5 साल की जेल 

गौरतलब है कि देवघर कोषागार से जुड़े चारा घोटाले में सुनवाई पूरी हो गयी है. देवघर कोषागार कांड संख्या आरसी 64ए/96 मामले में भी राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद, पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्र, ध्रुव भगत, आरके राणा समेत अन्य आरोपी हैं. रांची सीबीआई कोर्ट के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत में हुई सुनवाई में सीबीआई की ओर से 121 गवाहों को पेश किये गये. अब इस मामले में फैसले के बिंदु पर 23 दिसंबर को सुनवाई होगी. उसी दिन यह भी पता चलेगा कि लालू प्रसाद जेल जाएंगे या बाहर रहेंगे.