गुजरात : अमित शाह ने किया ‘बीच-बिचौव्वल’ तो मान गये नितिन बाबू…

अमित शाह, बीजेपी प्रेसिडेंट, अमित शाह, बीजेपी, रांची, पटना , bihar hindi news, patna, bjp, amit shah, ranchi
अमित शाह, बीजेपी प्रेसिडेंट

लाइव सिटीज डेस्क : गुजरात में गरम राजनीतिक माहौल के बीच भाजपा उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल को मनाने में कामयाब रहे. हालांकि इसमें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को ‘बीच-बिचौव्व्ल’ करना पड़ा. उसके बाद ही गुजरात के नितिन बाबू माने हैं. दरअसल कल से ही गुजरात का राजनीतिक माहौल गरम था. गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल अच्छा विभाग नहीं मिलने से नाराज हो गये थे. उन्होंने अपनी नाराजगी जाहिर भी कर दी थी. बात मीडिया तक में आ गयी.

दरअसल कैबिनेट में अपनी पसंद का मंत्रालय नहीं मिलने के कारण उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल कार्यभार संभालने में देरी कर रहे थे. इसके बाद उनकी नाराजगी की खबर मीडिया में आने के बाद मामले पर सियासत तेज हो गयी. यहां तक कि पाटीदार युवा नेता हार्दिक पटेल ने इस पर बड़ा हमला कर दिया. उन्होंने नितिन पटेल को कांग्रेस में अपने 10 विधायकों के साथ आने का आॅफर दे दिया. इसके बाद तो पॉलिटिकल कॉरिडोर में हंगामा मच गया. रविवार को भाजपा नेताओं में ऐसी छटपटाहट बढ़ी कि उन्होंने हार्दिक को निशाने पर ले लिया.



हार्दिक के बयान पर भाजपा में छटपटाहट, कहा- कोई नहीं आयेगा बहकावे में 

मामले को बढ़ते देख भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को बीच बिचौव्वल करना पड़ा. मीडिया में आ रही खबर के अनुसार उन्होंने उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल से बात की. इसके बाद गुजरात सरकार में चल रहा संकट समाप्त हो गया है. बताया जाता है कि देर शाम नितिन पटेल को वित्त मंत्रालय का प्रभार सौंपा गया है. इसके पहले भी यह विभाग उनके पास ही था.

हार्दिक पटेल के हाथों में लालटेन देख बोले तेजस्वी- भाई इसे जलाते रहना है 

नितिन पटेल ने की मानें तो भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने उन्हें आश्वासन दिया कि पद के हिसाब से कैबिनेट में नंबर दो का मंत्रालय दिया जाएगा. गौरतलब है कि पूर्ववर्ती सरकार में वित्त और शहरी विकास जैसे महत्वपूर्ण मंत्रालयों का कार्यभार संभालने वाले पटेल को इस बार सड़क और भवन, स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा, नर्मदा, कल्पसर एवं अन्य परियोजना विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई थी. इससे वे नाराज थे और योगदान नहीं दे रहे थे.