बोले मोहन भागवत : राम मंदिर बनना बहुत जरूरी, वरना संस्कृति की जड़ों से हम कट जाएंगे

बिहार पॉलिटिक्स, बिहार राजनीति, मोहन भागवत, बिहार दौरा, नीतीश कुमार, जदयू, राजद, शिवानंद तिवारी, नीरज कुमार, Bihar Politics, nitish kumar, mohan bhagwat, nawada

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का बड़ा बयान आया है. यह बयान उन्होंने राम मंदिर तोड़े जाने को लेकर दिया है. उन्होंने कहा कि भारत में राम मंदिर तोड़े जाने में भारतीय मुस्लिमों का हाथ नहीं है. उन्होंने कहा कि मुस्लिम समुदाय ने राम मंदिर को नहीं तोड़ा है. भारत के लोग ऐसा कार्य नहीं कर सकते हैं. उन्होंने इसके लिए विदेशी शासकों को जिम्मेवार ठहराया है. विदेशी सेनाओं ने भारतीयों को अपमानित करने के लिए यह दुष्कृत्य किया था, लेकिन आज हम आजाद हैं. हमें अधिकार है कि हम अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण करें.

मोहन भागवन ने कहा कि राम मंदिर सिर्फ मंदिर नहीं होगा, बल्कि हमारी पहचान की निशानी होगा. अगर अयोध्या में राम मंदिर नहीं बना तो हम अपनी संस्कृति की जड़ों से कट जाएंगे. मंदिर के स्थान को लेकर कोई संदेह नहीं है. उन्होंने कहा कि मंदिर को अयोध्या में अपने मूलस्थान पर ही बनना चाहिए. मामला सुप्रीम कोर्ट में है, हमें वहां के फैसले का इंतजार है.

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि हाल ही में जाति के नाम पर हुई हिंसा के लिए विपक्षी दल जिम्मेदार हैं. उन्होंने कहा कि जिनकी राजनीति की दुकानें बंद हो गई हैं, वे लोगों को जाति के नाम पर लड़ने के लिए भड़का रहे हैं. यह देश और समाज के हित में नहीं है. ऐसे राजनीतिक दलों से सभी को सतर्क रहने की जरूरत है. बता दें कि 2 अप्रैल को एससी/एसटी के नाम पर भारत को बंद किया गया था और कई राज्यों में हिंसक वारदातें भी हुई थीं. मोहन भागवन का यह बयान इसी से जोड़कर देखा जा रहा है.

कठुआ मामले में अब तक चुप हैं CM नीतीश, तेजस्वी ने कहा- नागपुर से सिग्नल नहीं मिला

गौरतलब है कि राम मंदिर पर मोहन भागवत का यह महत्वपूर्ण बयान विश्व हिंदू परिषद के सांगठनिक चुनाव के एक दिन बाद आया है. माना जा रहा है कि संघ प्रमुख के बयान को दिशानिर्देश मानते हुए विहिप आनेवाले दिनों में राम मंदिर के लिए जनजागरण पैदा करने वाले कार्यक्रम की घोषणा कर सकता है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*