ढाई साल के बेटे का मां ने ही रेत डाला गला, सन्न है पूरा मुहल्ला

ढाई साल के बेटे की हत्या के आरोप में पुलिस हिरासत में मां.

लाइव सिटीज डेस्क : वर्षांत का सबसे दुखद खबर झारखंड से आ रही है और यह मामला बिहार से भी जुड़ा है. अब तक कहा जाता है कि मां तो मां होती है. बच्चे उनके लिए जिगर का टुकड़ा होते हैं और बच्चों के लिए मां भगवान होती हैं. लेकिन झारखंड के रामगढ़ जिले में हृदयविदारक घटना हुई है. एक मां से तो ऐसी उम्मीद कतई नहीं की जा सकती है. और, यही सच है. मां ने अपने ही जिगर के टुकड़े का कत्ल कर दिया. कत्ल भी काफी बेरहमी से किया गया है. बताया जाता है कि महिला का सुसराल बिहार के गया जिले में है.

बताया जाता है कि झारखंड के रामगढ़ स्थित पलामू कॉलानी में शनिवार को उस समय सनसनी मच गयी, जब पता चला कि एक मां तन्नू देवी अपने ढाई साल के बेटे आरव के साथ कुएं में कूद गयी है. जो सुना वह दौड़ पड़ा. लेकिन इलाके में सनसनी उस समय मच गयी, जब पता चला कि ढाई साल के बच्चे का गला रेता गया है. वह भी हंसुआ व चाकू से. इतना ही नहीं, बच्चे का कान व सिर में भी काफी जख्म थे. अस्पताल में डॉक्टरों ने बताया कि बच्चे की मौत हो चुकी है तथा उसका गर्दन कटा हुआ है.



जानकारी के अनुसार पलामू कॉलोनी निवासी दिवंगत अजीत साव की बेटी तन्नू देवी की शादी 4 साल पहले बिहार के गया स्थित टेकारी निवासी जगन्नाथ गौतम से हुई थी. गौतम गया के रफीगंज में एक सरकारी स्कूल में टीचर हैं. वहीं शादी के डेढ़ साल बाद बेटे का जन्म हुआ था. बताया जाता है कि तन्नू का इन दिनों दिमागी हालत ठीक नहीं थी. इससे वह अपने बेटे आरव के साथ मायके में ही रह रही थी. शनिवार को यह हृदय विदारक घटना हो गयी.

घटना के वक्त घर में मां व बेटे अकेले थे. जबकि, बच्चे की नानी व मामा सब्जी लाने के लिए बाजार गये हुए थे. जब दोनों बाजार से लौटे तो घटना की जानकारी मिली. वहीं घटना की सूचना पाकर पुलिस भी वहां पहुंच गयी. पुलिस को छापेमारी में तन्नू देवी के कमरे से घटना में इस्तेमाल किये गये हसुआ और चाकू भी मिल गये हैं. पुलिस ने दोनों को जब्त करते हुए आरोपी मां तन्नू देवी को भी​ हिरासत में ले लिया है. पुलिस के अनुसार प्रारंभिक जाचं में बात आ रही है कि बच्‍चे की हत्‍या मां ने ही की है. मौके पर पहुंचे रामगढ़ थाना प्रभारी राजेश कुमार और रामगढ़ महिला थाना प्रभारी शकुंतला नाग ने घटना का जायजा लिया.