अब ‘आप’ जैसी बीजेपी की हालत, मामला यहां भी ऑफिस ऑफ प्रॉफिट का

लाइव सिटीज डेस्क : दिल्ली की आप जैसी हालत अब बीजेपी की हो गयी है. मामला यहां भी ऑफिस ऑफ प्रॉफिट का ही है. इससे बीजेपी की मुसीबत बढ़ गयी है. यह मामला हरियाणा से जुड़ा हुआ है. हरियाणा के एडवोकेट जगमोहन सिंह भट्टी ने वहां के हाईकोर्ट में इस बाबत याचिका दायर की है. बता दें कि आप के 20 विधायकों को इसी मामले में कल ही अयोग्य ठहराया गया है.

ऐसा ही मामला अब हरियाणा पहुंच गया है. आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य ठहराए जाने के बाद अब हरियाणा के भी चार विधायकों की सदस्यता पर गाज गिर सकती है. एडवोकेट भट्टी ने पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की है. याचिका में कहा गया है कि हरियाणा सरकार में शामिल 4 विधायकों को पद पर रहते हुए सीपीएस पद के सारे लाभ मिले हैं. यह मामला भी ऑफिस ऑफ प्रॉफिट में आता है. इन विधायकों में कमल गुप्ता, बख्शिश सिंह विर्क, सीमा त्रिखा और श्याम सिंह राणा शामिल हैं.

जगमोहन भट्टी ने अपनी याचिका में यह भी कहा है कि संविधान के आर्टिकल 190 और 102 तहत हरियाणा के चारों विधायकों की सदस्यता रद्द होनी चाहिए. मीडिया में आ रही रिपोर्ट के अनुसार हालांकि 5 जुलाई 2017 को हाईकोर्ट ने इन चारों विधायकों को सीपीएस के पद से हटा दिया था. लेकिन भट्टी ने अपनी याचिका में इनकी सदस्यता कैंसिल करने की मांग की है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि दिल्ली और हरियाणा की स्थिति एक जैसी नहीं है. दोनों के हालाते में काफी अंतर है. हमारे पास पहले से ही एक कानून है, लेकिन कोर्ट ने जब कहा कि यह सही नहीं है, तो हमने उन्हें पहले ही हटा दिया है. गौरतलब है कि दिल्ली की आप पार्टी के 20 विधायक इस मामले में कल ही अयोग्य ठहराए गये हैं. इन विधायकों को चुनाव आयोग ने अयोग्य माना था, जिस पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मुहर लगा दी.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*