कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी की पहली विदेश यात्रा, पहुंचे बहरीन

लाइव सिटीज डेस्क : कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी अपनी पहली विदेश यात्रा पर हैं और वे बहरीन पहुंच चुके हैं. राहुल यहां भारतीय मूल के कारोबारियों से मुलाकात करेंगे. ग्लोबल ऑर्गेनाइजेशन ऑफ पीपल ऑफ इंडियान ऑरिजन के सदस्यों ने राहुल का एयरपोर्ट पर भव्य स्वागत किया है. राहुल ग्लोबल ऑर्गेनाइजेशन के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के अलावा बहरीन के किंग हमास बिन इसा अल खलीफा से मुलाकात भी करेंगे. कांग्रेस की ओर से जारी स्टेटमेंट में कहा गया कि ग्लोबल ऑर्गेनाइजेशन के कार्यक्रम में राहुल बतौर चीफ गेस्ट शामिल हो रहे हैं.

राहुल यहां भारतीय मूल के लोगों से भी मंगलवार को मुलाकात करेंगे. रवाना होने से पहले राहुल ने भी एनआरआई लोगों से मिलने की खुशी जाहिर करते हुए कहा था कि हमारे देश के लोग विश्वभर में फैले हुए हैं और ये बेहद खास है कि बहरीन में बैठक और मुलाकात का मौका मिलेगा. राहुल गांधी के इस विदेश दौरे पर भाजपा ने निशाना साधा है.

भाजपा नेता जीवीएल नरसिम्हा राव ने ट्वीट कर राहुल पर पीएम मोदी की नकल करने का आरोप लगाया है. उन्होंने लिखा है कि ‘राहुल पीएम की नकल कर रहे हैं. मोदी जी की तरह पहले राहुल महाविद्यालयों, मंदिरों और अब एनआरआई के पास गए.’ भाजपा नेता ने अपने ट्वीट में आगे लिखा है कि “नकल” प्रशंसा का सबसे अच्छा रूप है,लेकिन यह सफलता नहीं देता है. लोग अक्सर नकल का आनंद लेते हैं लेकिन वास्तविक चीज़ के लिए सीटी बजाते है, वोट देते हैं.

बता दें कि पीएम मोदी अक्सर अपनी विदेश यात्राओं के दौरान वहां रह रहे भारतीय मूल के लोगों और उद्योगपतियों से मुलाकात करते हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को नोटिस, अरुण जेटली के नाम का किया था…

आपको बता दें कि राहुल आज सोमवार को यहां मनामा में 50 देशों से भारतीय मूल के बिजनेस लीडरों से मुलाकात और भारत की अर्थव्यवस्था व आर्थिक मंदी पर चर्चा करेंगे. राहुल का बहरीन दौरा सिर्फ खाड़ी देशों में रह रहे NRI से मुलाकात ही नहीं है, बल्कि इसके सियासी मायने भी हैं. राहुल ने जिस प्रकार अपनी अमेरिका दौरे के जरिए गुजरात की सियासी बिसात बिछाई थी. राहुल ने उसी तर्ज पर बहरीन पहुंचे हैं, जिसे कर्नाटक कनेक्शन के तौर पर देखा जा रहा है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*