‘मदद’ ऐप करेगी गंदे शौचालयों की शिकायत करने में आपकी हेल्प, जानिए कैसे

MADAD APP , Indian Railway , Railway Employee App , Train complaints, मदद ऐप, इंडियन रेलवे, रेलवे कर्मचारी

लाइव सिटीज डेस्क : रेलवे से जुड़ी शिकायत दर्ज कराने के लिए भारतीय रेल बहुत जल्द ‘मदद’ नाम का एक ऐप ला रही है. हालांकि इस ऐप के अलावा आपके पास ट्विटर, फेसबुक, हेल्पलाइन या शिकायत रजिस्टर की सुविधा पहले से मौजूद है. रेलवे इस महीने के आखिर में ‘मदद’ (मोबाइल एप्लीकेशन फॉर डिजायर्ड असिस्टेन्स ड्यूरिंग ट्रैवल) मोबाइल एप्लीकेशन जारी कर देगा जिसके जरिए मुसाफिर खाने की क्लालिटी, गंदे शौचालय जैसी शिकायतें दर्ज करा सकेंगे.

अधिकारियों तक सीधे शिकायत पहुंच जाएंगी

इस ऐप के जरिए वे इमरजेंसी सेवाओं की भी मांग कर सकते हैं. ऐप के जरिए अधिकारियों तक सीधे शिकायत पहुंच जाएंगी और ऑनलाइन कार्रवाई हो सकेगी. इस तरह से शिकायतों को दर्ज करना और उसे निपटाने की पूरी प्रक्रिया तेजी से हो सकेगी. इसके साथ ही मुसाफिर अपनी शिकायतों का स्टेटस और उस पर की गई कार्रवाई की जानकारी पा सकेंगे.

यह ऐप इस महीने शुरू हो सकता है

एक सीनियर अधिकारी ने बताया, ‘अब तक हमारे पास 14 माध्यम हैं जिसके जरिए यात्री अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं. सबका जवाब देने का अपना समय है और साथ ही जवाब का तरीका भी अलग है. कभी कोई सक्रिय रहता है, कभी नहीं रहता है. हम एक स्टैंडर्ड शिकायत निपटान प्रक्रिया चाहते हैं. यह ऐप इस महीने शुरू हो सकता है.’

यात्री अपनी शिकायतें पीएनआर टाइप कर दर्ज कर सकते हैं

यात्री अपनी शिकायतें पीएनआर टाइप कर दर्ज कर सकते हैं. पंजीकरण के समय एसएमएस के जरिए उन्हें एक शिकायत आईडी मिलेगा. इसके बाद की गई कार्रवाई के बारे में एसएमएस के जरिए जानकारी दी जाएगी. अधिकारी ने बताया कि इस ऐप में महीने में मिलने वाली कुल शिकायतों और निपटान के बारे में भी जानकारी मुहैया कराई जाएगी. उन्होंने बताया कि इस व्यवस्था के शुरू होने का मतलब यह नहीं है कि हम अन्य माध्यमों पर शिकायतें नहीं सुनेंगे.

यात्रियों की शिकायतों के लिए ‘मदद’ (मोबाइल एप्लीकेशन फॉर डिजायर्ड हेल्प ड्यूरिंग ट्रैवल) ऐप, जबकि कर्मचारियों शिकायतों के लिए ‘रेलकर्मी’ ऐप की तैयारियां जोरों पर हैं. दोनो के 1 मई को ‘मई दिवस’ के अवसर पर लांच होने की संभावना है.

यह भी पढ़ें : रेलवे ने टिकट बुकिंग नियम में किए बदलाव, जानिए क्या है रिजर्वेशन की नई प्रक्रिया

About Razia Ansari 1514 Articles
बोल की लब आज़ाद हैं तेरे, बोल जबां अब तक तेरी है

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*