मिशन 2019 : शिवसेना ने पकड़ी अलग राह, ’56 इंच’ वाले को ललकारा

लाइव सिटीज डेस्क : मिशन 2019 पर पूरे देश की नजर है. इसे लेकर केंद्र की सत्ता पर काबिज भाजपा पर तो विपक्ष हमलावर बना हुआ ही है, सहयोगी दल भी मौका मिलते ही टूट पड़ते हैं. बिहार में तो यह देखने-सुनने को मिलता ही है, महाराष्ट्र का भी कुछ ऐसा ही हाल है. ताजा मामले में शिवसेना ने मिशन 2019 को लेकर बड़ी घोषणा कर दी है. शिवसेना ने साफ कर दिया कि एनडीए के साथ अब उसका गठबंधन नहीं चलने वाला.

महाराष्ट्र में मंगलवार को शिवसेना की कार्यकारिणी की बैठक हुई. बैठक में शिवसेना ने बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि वर्ष 2019 के चुनावों को लेकर बड़ा ऐलान कर दिया है. अपने फैसले में शिवसेना ने कहा कि वह 2019 में लोकसभा और विधानसभा का चुनाव अकेले लड़ेगी और NDA के साथ अपना गठबंधन खत्म करेगी.

इतना ही नहीं, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे को पार्टी के नेशनल एग्जीक्यूटिव सदस्य पद के लिए नामित किया गया है. आदित्य ठाकरे ने कहा कि हम खुद पार्टी की नीतियां बनाएंगे. मीडिया में आ रही रिपोर्ट के अनुसार शिवसेना और बीजेपी के बीच तनाव चरम पर है. वहीं शिवसेना के संजय राउत की मानें तो हम 2019 का विधानसभा और लोकसभा चुनाव अपने दम पर लड़ेंगे.

वहीं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि हम हिंदुत्व के लिए हर राज्य में चुनाव लड़ेंगे. ठाकरे ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम खुद को पंथ प्रधान कहते हैं और विदेश की यात्राएं करते हैं. वे इजरायल के पीएम को अहमदाबाद लाते हैं, लेकिन उन्हें लाल चौक और श्रीनगर क्यों नहीं ले जाते. क्यों पीएम श्रीनगर में रोडशो नहीं करते. क्या उन्होंने कभी लाल चौक में तिरंगा फहराया है? अगर वो ऐसा करते तो हमारे मन में उनके लिए सम्मान पैदा होता. उन्होंने केंद्रीय मंत्री व बीजेपी नेता नितिन गडकरी पर नेवी का अपमान करने का आरोप लगाया. नेवी सीमा पर हमारी सुरक्षा करती है. उन्होंने यह भी कहा कि केवल 56 इंच का सीना चिल्लाने से नहीं होता है. वास्तव में सेना के जवानों के पास ही 56 इंच का सीना होता है. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमेशा 56 इंच के सीना वाली बात करते रहते हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*