ठाकरे का तंज : गुजरात चुनाव में ‘बंदरों’ ने शेर को मारा जोरदार तमाचा

लाइव सिटीज डेस्क : गुजरात इलेक्शन भले ही भाजपा की झोली में चली गयी हो, लेकिन जीत के रेशियो को लेकर एनडीए के घटक दल भी भाजपा पर हमला करने से बाज नहीं आ रहे हैं. नये वाकये में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बिना नाम लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर करारा हमला किया है. उन्होंने कहा कि बंदर कहकर जिनका मजाक उड़ाया गया, उन्हीं बंदरों ने शेर को जोरदार तमाचा मारा है. उनका शेर कहने के पीछे नरेंद्र मोदी पर इशारा था. उन्होंने यह भी कहा कि इस जीत से कांग्रेस मुक्त का सपना पूरा नहीं होगा.

गुजरात चुनाव का रिजल्ट आने ​के बाद मंगलवार को शिवसेना के मुखपत्र सामना के अंक में उद्धव ठाकरे ने यह हमला किया है. गुजरात चुनाव के नतीजों के सामने आने के बाद भाजपा की सहयोगी शिवसेना ने कहा कि बहु प्रचारित गुजरात मॉडल में अब दम नहीं रहा. वह अब हिलने लगा है. इस रिजल्ट से निरंकुश शासन में विश्वास रखने वालों को सबक सीखने की जरूरत है.



Gujarat Verdict : शत्रुघ्न सिन्हा ने की पीएम मोदी की तारीफ, तो राहुल गांधी को दी बधाई  

#GujaratVerdict : पीएम का ट्वीट- ‘जीता गुजरात, जीता विकास’ 

‘मैं बीजेपी को अभिनंदन नहीं दूंगा, ये जीत बेईमानी से हुई है’ 

#GujaratVerdict : राहुल गांधी ने चुप्पी तोड़ी, कहा- मैं निराश नहीं हूं  

#GujaratVerdict : गुजरात के नतीजे में नीतीश के लिए खुशी के साथ गम भी 

झारखंड जैसी बदकिस्मती : पूरा हिमाचल डोल रहा था, पर ‘धूमल-धूमल’ नहीं बोल रहा था 

#GujaratVerdict : डबल इंजन रटते-रटते डबल डिजिट में आ गयी भाजपा

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा है कि गुजरात चुनाव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को ‘बंदर’ कह कर मजाक उड़ाया गया, लेकिन इन्हीं बंदरों ने गुजरात में खुद को शेर कहे जानेवाले को जोरदार थप्पड़ जड़ दिया है. भाजपा की सीटें गुजरात में डबल डिजिट में आ गयी हैं.

मुखपत्र सामना में उन्होंने यह भी कहा है कि हालांकि भाजपा ने हिमाचल प्रदेश में सत्ता में आ गयी है, लेकिन कांग्रेस ने गुजरात में भाजपा को कड़ी टक्कर दी. 182 सीटों में से कांग्रेस ने 80 सीटें लीं, जबकि उससे महज 19 सीटें अधिक लेकर किसी तरह 99 पर वह पहुंची. भाजपा हंड्रेड से भी नीचे रह गयी. उन्होंने कहा कि गुजरात मॉडल तो हिलने लगा और इस मॉडल से अब कांग्रेस मुक्त भारत का सपना पूरा होनेवाला नहीं है.