भारत में भी बोइंग 737 मैक्स विमान पर प्रतिबंध, बढ़ सकता है किराया

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : इथियोपिया एयरलाइंस का बोइंग 737 यात्री जेट केन्या के अदीस अबाबा से नैरोबी की उड़ान पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. एयरलाइन का कहना था कि इस उड़ान में 149 यात्री और चालक दल के आठ सदस्य थे. एयरलाइंस के प्रवक्ता ने कहा कि दुर्घटना इथियोपिया की राजधानी से टेक-ऑफ करने के तुरंत बाद रविवार को स्थानीय समयानुसार 8.44 बजे हुई. दुर्घटना का पहला खबर तब आया जब प्रधानमंत्री अबी अहमद ने ट्विटर पर अपनी ‘गहरी संवेदना’ व्यक्त की.

भारत ने इथोपियन एयरलाइंस के एक विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के मद्देनजर बोइंग 737 मैक्स 8 विमान को प्रतिबंधित कर दिया है. नागर विमानन सचिव ने बुधवार शाम चार बजे दिल्ली में सभी एयरलाइंस की एक आपात बैठक बुलाई है. साथ ही सभी एयरपोर्ट पर बोइंग 737 मैक्स के संचालन पर रोक लगा दी गई है. भारतीय हवाई क्षेत्र में इन विमानों को शाम चार बजे के बाद प्रवेश करने की अनुमति नहीं है.

डीजीसीए का कहना है कि सभी बोइंग 737 मैक्स विमानों को शाम चार बजे तक उतारा जाएगा. इस प्रतिबंध का सीधा असर फ्लाइट पर भी पड़ सकता है. तत्काल हवाई यात्रा का किराया सामान्य दिनों से काफी ज्यादा है. विमानन कंपनियां इस समय विभिन्न संकटों से गुजर रही हैं, जिसके चलते विमान उड़ान नहीं भर रहे हैं. अब आशंका जताई जा रही है कि बोइंग मैक्स पर प्रतिबंध से किराये में और बढ़ोतरी हो सकती है.

बोइंग 737 मैक्स 8 विमान को प्रतिबंधित करने का फैसला मंगलवार रात लिया दिया. विश्व के कई अन्य देशों ने भी इस तरह का कदम उठाया है. रविवार को हुई इस विमान दुर्घटना में 157 लोगों की मौत हो गई थी. स्पाइस जेट के पास करीब 12 ऐसे विमान हैं, जबकि जेट एयरवेज के पास ऐसे पांच विमान हैं.

स्पाइसजेट ने तुरंत अपने 12-13 बी737 मैक्स विमानों की उड़ान पर रोक लगा दी है. पट्टे के किराए का भुगतान नहीं करने के कारण जेट एयरवेज के बोइंग विमान फिलहाल उड़ान नहीं भर रहे हैं. करीब 13 देशों ने बोइंग 737 मैक्स 8 विमानों पर रोक लगा दी है. कुछ ने अपने वायुक्षेत्र को ही इन विमानों की उड़ान के लिए बंद कर दिया है. दुनियाभर की करीब 27 एयरलाइंस ने बोइंग पर रोक लगाई है. वहीं करीब 18 एयरलाइन ने अभी भी इसपर रोक नहीं लगाई है.

नागर विमानन मंत्रालय ने एक ट्विटर पर कहा कि डीजीसीए ने बोइंग 737-मैक्स विमानों के उड़ान भरने पर फौरन प्रतिबंध लगा दिया है. ये विमान तब तक उड़ान नहीं भरेंगे, जब तक कि सुरक्षित परिचालन के लिए उपयुक्त सुधार एवं सुरक्षा उपाय नहीं कर लिए जाते.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*