देशद्रोह मामले में हुए चार्जशीट पर बोले कन्हैया – केन्द्र सरकार का है चुनावी स्टंट

कन्हैया कुमार (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : देश के युवा नेता के रूप में उभरते JNU के छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर लगभग 3 साल पहले जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी में देश विरोधी नारे लगाए जाने का आरोप लगा था. JNU में हुई नारेबाजी के मामले में अब जांच पूरी हो चुकी है. वहीं अब दिल्ली पुलिस जेएनयू छात्र संघ के कन्हैया सहित 10 लोगों पर चार्जशीट दाखिल कर दी है. इस दौरान कन्हैया कुमार का बयान आया है. मोदी सरकार को धन्यवाद देते हुए कन्हैया ने कहा कि चार्जशीट ही नहीं बल्कि स्पीडी ट्रायल के तहत इस मामले को न्यायालय में चलाया जाए.

सोमवार को बेगूसराय में पत्रकारों से बात करते हुए कन्हैया कुमार ने कहा, ‘वर्तमान सरकार के पास कोई मुद्दा ही नहीं बचा है इसलिए वो ऐसे मामले को तूल दे रही है. केंद्र सरकार सिर्फ पाकिस्तान, मंदिर और हिंदू-मुसलमान की बात कर रही है.’

यह भी पढ़ें – संभल जाएं बच्चे ! अब पांचवीं व आठवीं में फेल करने का कानून हो गया लागू

उन्होंने आगे कहा कि सरकार पूरी तरह डिप्रेशन के दौर में आ गई है और दोबारा सत्ता पाने के लिए वह किसी भी हद से गुजरने को तैयार हैं. इस मौके पर कन्हैया ने कहा कि मैं लोगों से अपील करता हूं कि लोग सरकार पर दबिश बना कर रहे और आने वाले चुनाव में सरकार को सबक सिखाने का काम करें.

यह भी पढ़ें – सियासी दही-चूड़ा भोजः NDA में दिखा गजब का प्यार, वशिष्ठ नारायण ने अपने हाथ से चिराग को खिलाया

दिल्ली पुलिस ने जेएनयू मामले में पटियाला हाउस कोर्ट में चार्जशीट आज दाखिल कर दी है. ये चार्जशीट सेक्शन-124 A,323,465,471,143,149,147,120B के तहत पेश की गई है. चार्जशीट में कुल 10 मुख्य आरोपी बनाए हैं जिसमें कन्हैया कुमार, उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य हैं. बाकी 7 कश्मीरी हैं.

आपको बता दें कि 9 फरवरी 2016 में जेएनयू कैंपस में अफजल गुरु और मकबूल भट्ट के फांसी के विरोध में एक प्रोग्राम आयोजित किया गया था, जिसमें देश विरोधी नारे लगाने के आरोप हैं.

About परमबीर सिंह 803 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*