निर्भया के प्राइवेट पार्ट में आयरन रॉड डाली गई थी प्रूव करो, उस इंसान को 10 लाख दूंगा- ML शर्मा

लाइव सिटीज डेस्क : जो ये बात साबित कर दे कि निर्भया की वेजाइना में रॉड डाली गई थी, मैं उस इंसान को 10 लाख का इनाम दूंगा. यही बात कही थी निर्भया केस में दोषियों के वकील एम. एल. शर्मा. ने… निर्भया गैंगरेप केसः बलात्कार और हत्या का एक ऐसा जघन्य मामला, जिसने सड़क से लेकर संसद तक और देश से लेकर दुनिया तक, हर जगह तहलका मचा दिया था.



16 दिसंबर, 2012 के बाद देश में बलात्कार जैसे मामलों पर एक बार फिर नए सिरे से बहस छिड़ चुकी थी. लोग सोचने पर मजबूर हो गए कि क्या हवस का दंश इतनी बेरहमी से इंसानियत का कत्ल करने पर भी आमादा हो सकता है. दिल्ली में निर्भया कांड के पांच साल हो गए हैं.

निर्भया कांड के 5 साल: भारत में आखिरी बार बलात्कार के मामले में फांसी कब हुई थी?

दिल्ली के 2012 के निर्भया बलात्कार कांड में सुप्रीम कोर्ट ने चारों दोषियों की फांसी की सजा को बरकरार रखा. निचली अदालत ने मुकेश, पवन, विनय शर्मा और अक्षय कुमार सिंह को मौत को सजा सुनाई थी जिसे दिल्ली हाई कोर्ट ने बरकरार रखा था.

पूरे देश को स्तब्ध करने वाले निर्भया गैंग रेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपने ऐतिहासिक फैसले में चारों दोषियों को फांसी की सजा सुनाई. कोर्ट ने निर्भया गैंग रेप को पूरे देश में ‘सदमे की सुनामी’ बताते हुए कहा कि इस केस ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था.

एम. एल. शर्मा ने इतना शर्मनाक बयान दिया

इस केस में दोषी करार दिए गए मुकेश और पवन की ओर से वकील एम. एल. शर्मा ने इतना शर्मनाक बयान दिया था जिसे सुन किसी को भी गुस्सा आ जाए. शर्मा ने कहा था कि वो उस इंसान को 10 लाख का इनाम देंगे जो ये बात साबित कर दे कि निर्भया की वेजाइना में रॉड डाली गई थी.

वो कह रहे थे कि खुद निर्भया ने मौत से पहले दिए बयान में ऐसी कोई बात नहीं कही है. न ही उसके साथ जो लड़का था, उसने ऐसा कुछ कहा है. इस बीबीसी की इस वीडियो में ये साफ हो गया था कि इनकी मानसिकता कैसी है.

पहले आरोपियों ने निर्भया की वेजाइना में लोहे का रॉड डाला

इसमें पुलिस का कहना है कि पहले आरोपियों ने निर्भया की वेजाइना में लोहे का रॉड डाला और उसके शरीर के अन्दर के अंग बाहर निकाल लिए. लेकिन एम. एल. शर्मा तो कुछ और ही तर्क देने लग गए. इस बयान के बाद उन्हें भारत में औरतों के खिलाफ क्राइम के कारण क्रिटिसिज्म झेलना पड़ा था.

वकील ने कहा, ‘मैंने ऑलरेडी बोल दिया है, जो डॉक्टर या कोई और भी ये बात प्रूव कर देगा, उसे मैं 10 लाख का इनाम दूंगा. मैं जानता हूं वो ऐसा नहीं कर पाएंगे, पुलिस झूठ बोल रही है. केवल पब्लिक के गुस्से को भड़काने के लिए और मामले को सेंशनलाइज करने के लिए ये थ्योरी दी गई थी.’

निर्भया को चलती बस में पहले रेप किया

ट्रायल कोर्ट 4 एडल्ट आरोपियों को मौत की सजा सुना चुका है. 23 साल का फिजियोथेरेपिस्ट दोस्त जो उस वक्त निर्भया के साथ था. उसका कहना है कि निर्भया को चलती बस में पहले रेप किया गया. फिर उसे बस से फेंक दिया गया. जिसके बाद निर्भया को आई सीरियस इंजरी के चलते उसकी मौत हो गई थी.

जब वकील एम. एल. शर्मा ने कोर्ट में निर्भया की मौत के वक्त दिया गया बयान पढ़ा, निर्भया की मां रो पड़ीं. निर्भया के परिवार की ओर से इस मामले में कहा गया, ‘हम साबित करेंगे. जो रॉड हमें मिली है, वो यूज की गई थी. 2 फीट 9 इंच की एक रॉड दोनों को पीटने के लिए यूज की गई थी. एक दूसरी रॉड 1 फीट 11 इंच की शरीर में घुसाई गई थी. आंतें हाथों का यूज करके बाहर खींच ली गईं थीं.’

मुकेश, पवन, विनय और अक्षय ने ट्रायल कोर्ट के बाद दिल्ली हाई कोर्ट से मिली अपनी मौत की सजा के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी. ये वही वकील एम. एल. शर्मा हैं, जिन्होंने निर्भया के ऊपर बनी डॉक्यूमेंट्री इंडियाज डॉटर में भी निर्भया के रेप पर आरोपियों का बचाव और रेप के पीछे निर्भया की गलती बताने की कोशिश की थी. जिसके बाद लोगों में एक आक्रोश पैदा हो गया था.