जातिगत जनगणना की मांग पर डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने साफ-साफ कह दिया…

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: जातीय जनगणना के मुद्दे पर बीजेपी को छोड़ एनडीए के घटक दल जेडीयू और हम भी विपक्ष के साथ है. ऐसे में यह मुद्दा बिहार बीजेपी के लिए गले का फांस बनता दिख रहा है. बीजेपी नेताओं को जातिगत जनगणना के सवाल का सामना करना पड़ रहा है. इस मुद्दे पर बीजेपी के विधायक, मंत्री या तो गोल मटोल जवाब दे रहे हैं या फिर बचते नजर आ रहे हैं.

ऐसा ही वाक्य शुक्रवार को बिहार विधानमंडल मॉनसून सत्र के अंतिम दिन देखने को मिला. जब पत्रकारों ने डिप्टी सीएम व बीजेपी नेता तारकिशोर प्रसाद से उनकी राय जाननी चाही. जातिगत जनगणना को लेकर डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि “हमलोगों की कोई व्यक्तिगत राय नहीं होती है. दल की क्या भावना है, क्या विचार है इसपर निर्भर करता है. दल के निर्णय के आधार पर हमलोगों की राय होती है.”

वहीं कटिहार मेयर शिवराज पासवान हत्याकांड मामले में प्रतिक्रिया देते हुए डिप्टी सीएम ने कहा कि यह एक जघन्य अपराध है, इस कांड के जो भी दोषी होंगे उन्हें बख्शा नहीं जाएगा. हमने डीजीपी,आईजी और जिले के एसपी को साफ निर्देश दे रखा है कि दोषियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी हो और स्पीडी ट्रायल चलाकर उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दिलायी जाए. इस घटना से मैं खुद मर्माहत हूं.

स्वर्गीय शिवराज पासवान को याद करते हुए उन्होंने कहा कि वो मेरे छोटे भाई जैसे थे. बहुत ही कम समय में उन्होंने समाज में अपनी एक जगह बना ली थी. उनके सहयोगात्म रवैये के कारण आज पूरा कटिहार रो रहा है. यह एक हत्या है, इसे मैं मानता हूं. जो घटना हुई है उससे कोई इनकार नहीं कर सकता है.