आज नागपुर जाएंगे प्रणब मुखर्जी, RSS के कार्यक्रम में होंगे शामिल, टिकी है सबकी निगाहें

प्रणब मुखर्जी , congress, Pranab Mukherjee, मोहन भागवत , प्रणव मुखर्जी, sangh shiksha varg , RSS, pranab mukherjee rss , pranab mukherjee , Nagpur , Mohan Bhagwat, Keshav Baliram Hedgewar , Former president, Rashtriya Swayamsevak Sangh, Delhi, Bihar, Nagpur,

लाइव सिटीज डेस्क : जबसे यह खबर आई है कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे तबसे इस पर सियासी घमासान मचा हुआ है. अब जब प्रणव मुखर्जी आरएसएस के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए बुधवार को नागपुर पहुंच रहे हैं, तो सबकी निगाहें इस पर टिकी है. 7 जून को होने वाले आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए प्रणव एक दिन पहले ही नागपुर पहुंच रहे हैं. राजभवन में उनके ठहरने का इंतजाम है. उनके इस दौरे पर बीजेपी और कांग्रेस के बीच सियासी घमासान छिड़ा हुआ है.

मीडिया की निगाहें टिकी हुई है

एक हफ्ते पहले आरएसएस की ओर से मिले न्योते को प्रणव ने स्वीकार किया था. इसके बाद से ही आरएसएस के मुख्यालय में होने वाले प्रणव के इस दौरे पर मीडिया की निगाहें टिकी हुई हैं. इस दौरान 700 आरएसएस कार्यकर्ता तीन वर्षीय प्रशिक्षण के तहत ग्रैजुएट होकर संघ के लिए समर्पित प्रचारक बनने जा रहे हैं. ऐसे में प्रणव के संबोधन में क्या बातें हो सकती हैं, ये सभी के लिए कौतूहल का विषय है.

कांग्रेसियों ने की थी न जाने की अपील

राजनीतिक वर्ग का एक हिस्सा कांग्रेस पार्टी से जुड़े रहे सम्मानित नेता प्रणव मुखर्जी के आरएसएस के कार्यक्रम में बतौर चीफ गेस्ट शामिल होने से खुश नहीं है. उनका मानना है कि इससे संघ की कट्टर हिंदुत्व विचारधारा को मान्यता मिलेगी. पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम, जयराम रमेश, सीके जाफर शरीफ समेत 30 से ज्यादा कांग्रेस नेताओं ने प्रणब से संघ कार्यक्रम में नहीं जाने की अपील की है. इन नेताओं ने पत्र और मीडिया के जरिए मुखर्जी से इस कार्यक्रम से दूर रहने को कहा.

वहीं, एक दूसरे वर्ग का कहना है कि राजनीतिक विरोध के बीच ऐसा जुड़ाव लोकतंत्र के लिए जरूरी है, क्योंकि ऐसा नहीं होने पर कई बार राष्ट्रहित को नुकसान पहुंचता है. गौर करने वाली बात यह है कि पूर्व राष्ट्रपति के दौरे के संबंध में जारी आधिकारिक बुकलेट में आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल होने के अलावा और कोई जानकारी नहीं दी गई है.

यह भी पढ़ें : संघ के लोगों को संबोधित करेंगे प्रणब मुखर्जी, क्या पूर्व राष्ट्रपति खेलने जा रहे हैं नई पारी !

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*