राहुल गांधी की एक आवाज़ पर उमड़ा जनसैलाब, सड़क पर उतरे कांग्रेसी, कहा- अब बस !

India Gate, Rahul Gandhi, Kathua Unnao, Unnao rape case, congress, राहुल गांधी , कांग्रेस, प्रियंका गांधी, कांग्रेस

लाइव सिटीज डेस्क : कश्मीर के कठुआ में 8 साल की बच्ची से दरिंदगी और उन्नाव में दुष्कर्म की घटनाओं के विरोध में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इंडिया गेट पर आधी रात को कैंडल मार्च निकाला. ऐसा पहली बार हुआ है जब राहुल गांधी इस तरह से विपक्ष की भूमिका में दिखे और सड़क पर उतरे. इस प्रदर्शन में प्रियंका वाड्रा, रावर्ट वाड्रा समेत बड़ी संख्या में कांग्रेस नेता-कार्यकर्ता और आम लोग शामिल हुए. ऐसा लग रहा था कि राहुल गांधी के नेतृत्व में पूरा दिल्ली सड़क पर उतर आया है.

राहुल गांधी पहली बार सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरे

बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी पहली बार सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरे हैं. राहुल ने कहा कि यह मार्च राजनीति करने के लिए नहीं है, यह देश में महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अत्याचारों को रोकने के लिए है. राहुल ने कहा, “हम चाहते हैं कि सरकार इस पर कार्रवाई करे. आज हिंदुस्तान की महिलाओं को बाहर निकलने से डर लग रहा है. जहां भी हम देखते हैं, कहीं-न-कहीं, कभी बच्ची को कभी महिला को मारा जाता है. रेप किया जाता है और हम चाहते हैं कि सरकार इस मामले को रिसॉल्व करे. हिंदुस्तान की महिला शांति से सड़क पर उतरकर अपनी जिंदगी शांति से जी सके.”



अलग अंदाज़ में दिखे राहुल गांधी

राहुल गांधी ने ट्वीट किया और कहा कि इन घटनाओं पर लाखों भारतीयों की तरह मेरा दिल भी दुखी हुआ है. हम महिलाओं को इस हाल में नहीं छोड़ सकते. आइए शांति और इंसाफ के लिए इंडिया गेट पर कैंडल मार्च में हिस्सा लें. राहुल की इस अपील पर आधी रात को इंडिया गेट पर युवाओं का हुजूम उमड़ पड़ा. ये कांग्रेस की बदली हुई सियासत और राहुल के युवा अंदाज का एक और नजारा था. हाल के वर्षों में राहुल लीक से हटकर अपनी सियासत से युवाओं को कनेक्ट करने में तेजी से सफल हुए हैं.

कांग्रेस के कई बड़े नेता पहुंचे थे

इस कैंडल मार्च में राहुल गांधी के साथ उनकी बहन प्रियंका, रॉबर्ट वाड्रा और उनके बच्चे भी थे. मौके पर ही पार्टी के कई बड़े नेता भी पहुंचे थे. इस मार्च में अशोक गहलोत, अहमद पटेल, अंबिका सोनी, दिग्विजय सिंह, रणदीप सिंह सूरजेवाला, आरपीएन सिंह अौर गुलाम नबी आजाद समेत कई कांग्रेस लीडर शामिल हुए. इससे पहले से ही सैकड़ों की संख्या में आम लोग, कांग्रेस कार्यकर्ता और समर्थक भी इस मार्च में हिस्सा लेने मौजूद थे. रात करीब एक बजे राहुल वहां से लौट गए.

निर्भया के माता-पिता भी शामिल हुए

राहुल गांधी के इंडिया गेट पहुंचने से पहले ही दि‍ल्ली के अलग-अलग हिस्सों से लोग यहां पहुंचने लगे थे. कई लोग अपने बच्चों को भी साथ लेकर पहुंचे थे. इंडिया गेट पर इतनी भीड़ दिखी कि 2012 में हुए निर्भया कांड की भी याद ताजा हो गई. वक्त भी इंडिया गेट पर लोग ऐसे ही इकट्ठा हुए थे. हालांकि, तब सत्ता में कांग्रेस थी और अब भाजपा है. इस मार्च में निर्भया के माता-पिता भी शामिल हुए.

यह भी पढ़ें : LIVE : देर रात इंडिया गेट पर कैंडल मार्च, राहुल गांधी के साथ पहुंची बहन प्रियंका भी