सोशल मीडिया को लेकर सख्त हुए रविशंकर प्रसाद, बोले- चुनाव में दखल मंजूर नहीं

रविशंकर प्रसाद, भारत, चुनाव, सोशल मीडिया, election, social media, ravishankar prasad, facebook, whatsapp
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद

लाइव सिटीज डेस्क : सोशल मीडिया लोगों के जीवन पर पूरी तरह से हावी हो चुका है. असका असर हर जगह देखने को मिल रहा है. लेकिन सबसे अधिक चिंता का विषय ये है कि भारत में होने वाले आम चुनावों पर भी ये हावी ना हो जाये. और गलत ताकतें इसका बेजा इस्तेमाल ना करें. इसको लेकर केंद्र सरकार भी गंभीर है कि सोशल मीडिया पर डाटा का कथित तौर पर दुरुपयोग ना हो. सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने रविवार को अर्जेंटीना के साल्टा में जी-20 डिजिटल इकोनॉमी मिनिस्ट्रियल बैठक को संबोधित करते हुए सोशल मीडिया को लेकर कई बातें कही.

चुनावी प्रक्रिया में सोशल मीडिया का दखल नहीं

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सख्त शब्दों में कहा है कि सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर चुनावी प्रक्रिया में दखल देने की इजाजत कतई नहीं दी जाएगी. प्रसाद ने कहा कि लोकतांत्रिक प्रक्रिया की शुद्धता से कोई समझौता नहीं होगा. हम वादा करते हैं कि इस प्रक्रिया को दूषित करने वालों को रोकने और दंडित करने के लिए हरसंभव कोशिश करेंगे. प्रसाद ने कहा कि भारत सरकार सोशल मीडिया डाटा के दुरुपयोग को लेकर गंभीर है और ऐसे प्लेटफार्म को चुनावी प्रक्रिया प्रभावित करने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

कट्टरता फैलाने के लिए भी साइबर माध्यमों का इस्तेमाल

रविशंकर प्रसाद ने आगाह करते हुए कहा कि इंटरनेट का आपराधिक उपयोग वास्तविकता है. इसे रोकने के लिए सख्त कदम उठाने होंगे. कट्टरता फैलाने के लिए भी साइबर माध्यमों का इस्तेमाल किया जा रहा है. यह एक बड़ी चुनौती है, जिससे निपटने के लिए देश में कड़े कानून के साथ ही अंतरराष्ट्रीय सहयोग भी जरूरी है.

भारत में चुनाव पारदर्शी और सुरक्षित है

गौरतलब है कि इससे पहले भी रविशंकर प्रसाद ने कहा था कि फेसबुक, वॉट्सऐप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को खुद फेक न्यूज के प्रसार को रोकना चाहिए और सरकार ऐसे प्लेटफॉर्म के दुरुपयोग को स्वीकार नहीं करेगी. उन्होंने कहा, कोई विदेशी संस्था, फेसबुक या कैंब्रिज एनालिटिका भारत में चुनावों को प्रभावित करने के लिए भारतीयों के डेटा का दुरुपयोग नहीं कर सकती. भारत में चुनाव बहुत पारदर्शी और सुरक्षित हैं. उन्होंने कहा कि सरकार ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों से कहा है कि वे फेक न्यूज या अनुचित खबरों का प्रसारण नहीं कर सकती. यह स्वीकार्य नहीं होगा.

आपको बता दें कि सोशल मीडिया डाटा के दुरुपयोग का मामला भारत में जांच के दायरे में है. सीबीआई ने हाल ही में कैंब्रिज एनालिटिका के खिलाफ जांच शुरू की है. इस फर्म पर सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक के जरिये भारत के करीब पांच करोड़ उपयोगकर्ताओं की निजी जानकारियां लीक करने का आरोप है.

यह भी पढ़ें : आज के समय में सोशल मीडिया में बनाएं अपना करियर, होगी धमाकेदार कमाई

बोले रविशंकर प्रसाद : अपनी जिम्मेदारियों से नहीं बच सकती हैं सोशल साइटें

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*