जेडीयू के नये अध्यक्ष ललन सिंह को आरसीपी सिंह ने दी बधाई, कहा-पद नहीं पार्टी को मजबूत करना मकसद

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: आरसीपी सिंह की जगह जेडीयू की कमान ललन सिंह को सौप दी गयी. दिल्ली में हुई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में सर्वसम्मति से ललन सिंह के नाम पर मुहर लगी. ललन सिंह के नाम पर मुहर लगते ही आरसीपी सिंह ने अपना इस्तीफा दे दिया. साथ ही ललन सिंह को बधाई और शुभकामनाएं भी दी.

आरसीपी सिंह ने पार्टी के नये राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह को बधाई देते हुए कहा कि हमारे नेता के साथ उनका संबंध और सानिध्य 28 वर्षो से ज्यादा है. और हम भी उन्हें 23 वर्षो से जानते हैं. प्रदेश में अध्यक्ष भी रहे हैं, मंत्री भी रहे हैं. उनको काम करने का तजुर्बा है, संगठन और सरकार में भी काम करने का भी तजुर्बा है.

ललन बाबू के आने से निश्चित रूप से जेडीयू और मजबूत होगा. बिहार और बिहार के बाहर हमारी पार्टी और मजबूत होगी. हम सभी संगठन के जुड़े हैं. हम सभी उन्हें मजबूती से सपोर्ट करेंगे. विपक्ष पर पलटवार करते हुए कहा कि अगर उन्हें लगता है राष्ट्रीय अध्यक्ष बदलने से कुछ नहीं होता तो खुश होना चाहिए, उनके सोचने से कुछ नहीं होने वाला है.

वहीं आरसीपी सिंह के कार्यकाल को छोटा कहने पर उन्होंने कहा कि मेरा छोटा कार्यकाल नहीं है. जेडीयू में मैं 1 जून 2010 को ज्वाइन किया था. इन 11 वर्षो में मैं संगठन में किसी ना किसी पद पर रहा. ऐसे में हमारा जिस प्रकार से काम चलता था और मजबूती के साथ चलेगा.

उधर नये राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत पार्टी के तमाम नेताओं को धन्यवाद दिया. साथ ही बतौर राष्ट्रीय अध्यक्ष अपनी प्राथमिकता को बताते हुए कहा कि आरसीपी सिंह के काम को आगे तक ले जाना है. बिहार के गांव-गांव तक सरकार और संगठन के कामों को बताना है. सभी के साथ मिलकर आगे बढ़ा जाएगा.

अध्यक्ष ने कहा कि जो हमारे नेता समता काल से जुड़े हैं और किसी ना किसी कारणवश आज सक्रिय नहीं है उन्हें पार्टी के साथ जोड़ना और सक्रिय करना प्राथमिकता होगी. सभी दलों के नेताओं से साथ मिल जुलकर जेडीयू और मजबूत किया जाएगा. कोई पसंनदी और नापसंदी की बात नहीं होगी. ना ही कोई उपेक्षित महसूस करेगा.