गंगा रक्षा को लेकर अनशन पर रहे संत गोपाल दास लापता, दून अस्पताल में चल रहा था इलाज

दिल्ली एम्स में एडमिट संत गोपाल दास का फोटो

लाइव सिटीज डेस्क : गंगा रक्षा को लेकर अनशन कर रहे संत गोपाल दास एक बार फिर गायब हो गये हैं. इसे लेकर देहरादून से लेकर दिल्ली तक में हलचल मच गया है. पहले वे दिल्ली एम्स से गायब हुए. बाद में पता चला कि उन्हें बुधवार को देहरादून भेजा गया है. बताया गया कि संत गोपाल दास को दून अस्पताल में भर्ती किया गया है. लेकिन अब गुरुवार को बड़ी खबर आ रही है कि वे वहां से भी लापता हैं.

जानकारी के अनुसार गंगा को बचाने के लिए संत गोपालदास अनशन कर रहे थे. तबीयत बिगड़ने पर उन्हें ऋषिकेश के अस्पताल में एडमिट कराया गया. लेकिन उनकी तबीयत में सुधार नहीं हुआ. इसके बाद आनन-फानन में संत गोपाल दास को दिल्ली के एम्स में एडमिट कराया गया. एम्स में इमरजेंसी बिल्डिंग की 8वीं मंजिल पर उन्हें एडमिट किया गया.

दिल्ली एम्स में एडमिट संत गोपालदास से किसी के भी मिलने पर रोक लगा दी गई थी. लेकिन प्रशासनिक गलियारे में तब अफरातफरी मच गयी, जब वे एम्स से लापता हो गये. लापता की जानकारी तब मिली, जब संत गोपाल दास से मिलने उनके पिता शमसेर पहुंचे. उन्होंने जब एम्स प्रबंधन से जानकारी मांगी तो कोई यह बताने को तैयार नहीं था कि गोपाल दास कहां हैं?

इसके बाद पिता शमसेर ने पुलिस से इसकी शिकायत की. काफी हंगामा होने के बाद एम्स ने संत गोपालदास को देहरादून भेजने की जानकारी दी. पिता को बताया गया कि गोपाल दास को देहरादून के जौली ग्रांट अस्पताल में एडमिट हैं.

अब नया मामला फिर सामने आया है. बताया जा रहा है कि संत गोपाल दास अब दून अस्पताल से भी लापता हैं. दून अस्पताल में इलाज शुरू होने के 7 घंटे के भीतर ही वे लापता हो गए हैं. इससे एक बार फिर प्रशासनिक खेमे में हलचल मच गया है. पुलिस ने उनकी तलाश तेज कर दी है. वहीं उनके पिता शमसेर ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार उनके साथ साजिश कर रही है. बता दें कि लगभग चार माह से संत गोपाल दास अनशन पर हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*