प्यास से तड़प रहे हाथियों को क्रेन की मदद से उल्टा लटकाकर बचाया जा रहा,चल रहा रेस्क्यू ऑपरेशन

लाइव सिटीज डेस्क : क्या आपने कभी जंगलों में हाथियों को प्यास से तड़पते देखा है. नहीं देखा होगा क्योंकि आपको वहां जाने का मौका ही नहीं मिला होगा. लेकिन यहां हम हाथियों के झुंड के बारे में बताने जा रहे हैं कि कैसे प्यास से तड़प रहे हाथियों को जंगल से दूसरे जगह ले जाया जा रहा है. दरअसल, साउथ अफ्रीका के एक जंगल में हाल ही में पानी की कमी हो गई जिसके बाद वहां के हाथियों को प्यासे रहने के अलावा और कोई चारा ही नहीं बचा था. इन विशालकाय हाथियों को बचाने का जिम्मा फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के ऊपर आ गया था और यह काम इतना आसान भी नहीं था.

भारी भरकम शरीर वाले इन जानवरों को एक जंगल से दूसरे जंगल ले जाना किसी पहाड़ के तोड़ने से कम नहीं था. लेकिन फॉरेस्ट डिपार्टमेंट के लोग भी बहुत हिम्मत वाले थे. इस जंगल में 10 हाथियों का झुंड प्यास के कारण तड़प रहा था जिनमें से 4 हाथियों का वजन लगभग 4 टन (4 हजार किलो) था. इन हाथियों को बचाने के लिए एक रेस्क्यू ऑपरेशन किया गया.

यह रेस्क्यू ऑपरेशन फॉरेस्ट डिपार्टमेंट वालों के लिए बहुत ही मुश्किल भरा था. सबसे पहले तो इन लोगों ने हाथियों के झुंड को काबू करने का काम किया. उसके बाद हाथियों को घेरकर एक ही जगह इकट्ठा किया गया. इसके बाद उनके शरीर के हिसाब से उन्हें बेहोशी के इंजेक्शन लगाए गए.

हाथियों के बेहोश हो जाने के बाद टीम को यह भी जांचना पड़ा कि दवा का असर कितनी देर तक रहेगा. यह प्रोसेस इसलिए करनी पड़ी कि हाथियों के पूरे झुंड को एक साथ ट्रकों में लादकर दूसरे जंगल ले जाना था.

हाथियों को ट्रकों में लादने के लिए क्रेनों का भी इंतजाम किया गया था कि काम जल्द से जल्द हो सके. रेस्क्यू के लिए फॉरेस्ट की टीम के साथ ट्रक व क्रेन के ड्राइवर्स तक ने शानदार भूमिका निभाई थी.

इस रेस्क्यू ऑपरेशन को करने से पहले रेस्क्यू टीम ने ब्रिटेन के फेमस फोटोग्राफर पीट ऑक्सफोर्ड को जंगल में आने का निमंत्रण दिया था. पीट ऑक्सफोर्ड ने बताया कि उनके लिए इस रेस्क्यू ऑपरेशन की फोटोग्राफी करने का यह सबसे शानदार मौका था. हाथियों को ट्रकों में लादने के बाद उन्होंनें हेलिकॉप्टर से भी ऑपरेशन की शानदार फोटोज क्लिक कीं.

साउथ अफ्रीका के कई देश इस समय भीषण सूखे का सामना कर रहे हैं. इंसानों के साथ जानवरों का भी बुरा हाल है. ये शानदार तस्वीरें पीट ऑक्सफोर्ड ने अपने कैमरे में कैद कर ली.