यूपी में कांग्रेस के अलग होने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा, पहले भी यह देखा जा चुका है : तेजस्वी

लाइव सिटीज,(पटना से देवांशु प्रभात) : उत्तर प्रदेश की राजनीति पर बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का बयान आया है. आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा ने कांग्रेस से अलग हो कर गठबंधन बनाया है. जिसको लेकर शनिवार को तेजस्वी यादव ने कहा कि यूपी में कांग्रेस के अलग होने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा. पिछले चुनाव में यह देखा जा चुका है.

पटना में पत्रकारों से बात करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि यूपी में गठबंधन से हमारा कोई लेना देना नहीं है. ऐसे भी उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के अलग होने से कोई ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा. हम चाहते हैं कि लाइट माइंडेड पार्टी एक साथ आए.

वहीं केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के बयान पर उन्होंने कहा कि रामविलास पासवान से हम उम्र में काफी छोटे हैं. हमारे माता पिता ने हमे बड़ों का सम्मान करने का संस्कार दिया है. उनपर मैं कोई टिप्पणी नहीं कर सकता. उन्होंने आगे कहा कि मेरी माँ पर जो टिप्पणी किया है उसको जनता जबाब देगी.

यह भी पढ़ें – रामविलास पर मांझी ने किया पलटवार, बोले – पढ़ाई और राजनीति दोनों अलग-अलग हैं

आपको बता दने कि अखिलेश यादव की सपा और मायावती की बसपा का गठबंधन हो गया है. आज यानी 12 जनवरी को मायावती और अखिलेश यादव ने एक साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी घोषणा की. उत्तर प्रदेश में बसपा-सपा 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेगी . बाकी दो सीटें अन्य सहयोगियों के लिए और दो सीटें कांग्रेस के लिए छोड़ दी जाएंगी.

अखिलेश यादव ने पत्रकारों से कहा कि भाजपा के अहंकार का विनाश करने के लिए सपा-बसपा का मिलना जरूरी था. मैनें कहा था कि इस गठबंधन के लिए अगर दो कदम पीछे भी हटना पड़ा तो हम करेंगे. आज से सपा का कार्यकर्ता यह गांठ बांध ले कि मायावती जी का अपमान मेरा अपमान होगा.

मायावती ने सपा-बसपा गठबंधन का ऐलान किया और कहा कि 25 साल बाद हम दोनों पार्टियां एक बार फिर से साथ आए. मायावती ने कहा कि बोफोर्स की वजह से कांग्रेस की सरकार गई थी, अब राफेल की वजह से बीजेपी की सरकार जाएगी. बीजेपी को राफेल ले डूबेगी.

About परमबीर सिंह 370 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*