31 जनवरी 2018 का दिन है बेहद ही खास, आसमान में यह नजारा देखना मत भूलिए वरना पछताएंगे

लाइव सिटीज डेस्क : इस साल यानी 2018 का जनवरी महीना कल खत्म होने वाला है और यह आखिरी दिन बहुद ही खास है. बहुत कम लोगों को इसके बारे में पता है कि आखिर यह इतना खास कैसे है. इस तरह के खास मौके हमारे जीवन में कम ही देखने को मिलते हैं. दरअसल, 31 जनवरी को सुपरमून, ब्लूमून और चंद्र ग्रहण एक ही रात को नजर आने वाला है. इसे अवश्य ही देखना चाहिए, क्योंकि आसमानी घटना देखने के ऐसे खास मौके जीवन में बहुत कम मिलते हैं. इसलिए इसे ‘सुपर ब्लू ब्लड मून’ कहा गया है.

जब ब्लू मून, ब्लड मून (पूर्ण चंद्र ग्रहण) और सुपरमून तीनों एक ही दिन होंगे तो जाहिर है नजारा ख़ास होगा. बता दें कि 31 जनवरी को ग्रहण का खूबसूरत दृश्य शाम 6:22 से 8:42 के बीच दिख सकता है. ‘सुपर ब्लू ब्लड मून’ को भारत के साथ-साथ इंडोनेशिया, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में स्पष्ट देखा जा सकेगा. उधर, अमेरिका के अलास्का, हवाई और कनाडा क्षेत्र में भी साफ़-साफ़ देखा जा सकता है.

स्पष्ट कहें तो जब पूर्णिमा के दिन चांद धरती के सबसे पास हो, तो उस दिन सुपरमून दिखता है. ऐसा बीते दिसंबर की 3 तारीख को भी हुआ था. इस स्थिति में चांद बेहद चमकीला और बड़ा दिखता है. जबकि ब्लू मून उसे कहा जाता है कि जब पूर्णिमा महीने में दो बार होती है. अर्थात महीने के शुरुआत में पूर्णिमा होने पर अंत में भी संयोग से पूर्णिमा रहा तो इसे ब्लू मून कहा जाता है. ऐसी स्थिति में चंद्रमा नीली रोशनी के साथ नीचे का हिस्सा ऊपरी हिस्से की तुलना में ज्यादा चमक बिखेरता प्रतीत होता है.

नासा की मानें तो ब्लू मून की घटना हर ढाई साल में एक बार होती है. 31 जनवरी 2018 के बाद ये 2028 और 2037 में भी देखने को मिलेगा. वहीं, पूर्ण चंद ग्रहण तब होता है, जब धरती की छाया से पूरा चांद छिप जाए. इसे ही अंग्रेजी में ‘ब्लड मून’ कहा जाता है.

ये तीन घटना एक साथ 31 जनवरी को होने वाली है और अब सोचिए कि क्या आकाशीय नजारा देखने को मिल सकता है. इसलिए हम आपको पहले ही बता दे रहे हैं कि इसे देखने से मत चूकिएगा.

About Ritesh Sharma 3275 Articles
मिलो कभी शाम की चाय पे...फिर कोई किस्से बुनेंगे... तुम खामोशी से कहना, हम चुपके से सुनेंगे...☕️

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*