काशी में मंदिर तोड़ने पर बोले संजय सिंह – ‘भाजपा भगाओ-भगवान बचाओ’ यात्रा की करेंगे शुरुआत

संजय सिंह (फाइल फोटो)

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : आम आदमी पार्टी के नेता और सांसद संजय सिंह ने काशी विश्वनाथ कोरिडोर के नाम पर काशी में मंदिरों के विध्वंस के विरोध में संसद के वर्तमान शीतकालीन सत्र में प्राइवेट मैंबर बिल लाने हेतु राज्य सभा के सभापति के समक्ष पवित्र नगरी काशी (सांस्कृतिक विरासत संरक्षण) विधेयक, 2019 प्रस्तुत कर दिया है. सनद हो कि काशी प्रस्तवित 700 मीटर लम्बे काशी विश्वनाथ कोरिडोर के नाम पर बीजेपी सरकार ने अब तक 36 मंदिर काशी में तोड़ दिए हैं और आगे अयोध्या में 176 मंदिरों को तोड़ने का आदेश जारी किया है.

​प्रस्तवित विधेयक का उद्देश्य प्राचीन नगरी काशी को विशिष्ट राष्ट्रीय महत्व का शहर घोषित करना एवं भगवान शिव, गणेश, कृष्ण आदि के तोड़े गए मंदिरों की पुनःस्थापना कराना है.

इस कोरिडोर के निर्माण के लिए लाखों स्थानीय लोगों को सैकड़ों वर्ष पुराने प्रतिष्ठानों को छोड़ कर जाने के लिए विवश किया गया है. काशी की सांस्कृतिक विरासत को विध्वंस करने के साथ-साथ सरकार इस कोरिडोर के निर्माण की आड़ में स्थानीय लोगों के निजी घरों, होटलों व व्यावसायिक इकाईयों को भी निशाना बना रही है और अपने पूंजीपति मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिए उस स्थल पर शॉपिंग कांप्लेक्स बनवाना चाहती है.

यह भी पढ़ें – केंद्र सरकार पर बरसे रविन्द्र सिंह, बोले – इनकम टैक्‍स देने वाले गरीब कैसे, यह सिर्फ वोट की राजनीति

इस विधेयक के माध्यम से एक कमेटी गठित किये जाने का प्रस्ताव रखा गया है जो काशी के प्राकृतिक व सांस्कृतिक विरासत के परिरक्षण व संरक्षण का पर्यवेक्षण करेगी. जिन स्थलों पर मंदिरों का विध्वंस किया गया है उनकी पहचान व उसके पुनःस्थापना के देख रेख के लिए एक अलग कमेटी का गठन किये जाने की प्रस्तावना है जिसके सदस्य विभिन्न राज्य सरकार व केंद्र सरकार के अधिकारी होंगे.

यह भी पढ़ें – नहीं रहे राजद के एमएलसी खुर्शीद मोहसिन, निधन के बाद बिहार में शोक की लहर

संजय सिंह का कहना है कि “राज्य व केंद्र सरकार को लोगों की आस्था के संरक्षक होने का दिखावा करने के बजाय इस कोरिडोर के निर्माण को रोक कर इस शहर के लोगों के जीवन स्तर को बेहतर करना चाहिए”. उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार अयोध्या में नारा लगाती है कि, ‘राम लला हम आएंगे, मंदिर यहीं बनाएंगे.’ लेकिन इसके ठीक उलट काशी में ये लोग नारा लगाते हैं ‘भोले बाबा हम आएंगे मंदिर सारे तुड़वाएंगे’. यह बीजेपी का दोहरा चरित्र है.

बीजेपी का धर्म से कोई लेना देना नहीं: संजय सिंह

संजय सिंह ने मीडिया से कहा कि , “बीजेपी का धर्म से कोई लेना देना नहीं है. वह खुद को राम का भक्त बताती हैं लेकिन राम ने जिन शिव की भक्ति की, उन्हीं के मंदिर को काशी में तुड़वा दिए.” उन्होंने कहा कि योगी सरकार ने अयोध्या में भी 176 मंदिरों को जर्जर बता कर तोड़ने का नोटिस दिया है. बीजेपी एक तरफ राम मंदिर बनाने की बात कहती है मगर वह दूसरी जगहों पर बड़ी संख्या में मंदिरों को जमींदोज कर रही है. प्रदेश सरकार बनारस की सांस्कृतिक पहचान को मिटा देना चाहती है.

सिंह ने इस शीतकालीन सत्र की शुरुआत में ही कहा था कि वह संसद में इस मामले में प्राइवेट मेंबर्स विधेयक लायेंगे उन्होंने कहा कि इस मामलें में नया विधेयक लाकर ही मामले को सुलझाया जा सकता है. क्योंकि माननीय सुप्रीम कोर्ट ने उक्त मामले में हस्तक्षेप करने से इंकार कर दिया है.

सांसद इस मामले को लेकर अपना रुख कई मंचों से स्पष्ट कर चुके हैं और अब तक कई जनसभाओं में व मीडिया के माध्यम से इस ध्वस्तीकरण के लिए जिम्मेदार सरकार को चेतावनी भी दे चुके हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में मलबे में मिले दर्जनों खंडित शिवलिंग-मूर्तियां को लेकर आप नेता संजय ने भाजपा पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि काशी में बहुत से मंदिर तोड़े जा रहे हैं, शिवलिंग तोड़कर थाने में रखा है, “मोदी, मौन मोदी बने हैं”, “भाजपा वालों शर्म करो. योगी के राज में बाबरशाही चल रही है. भोले बाबा का श्राप मत लो, वरना पूरे देश से तुम्हारी सत्ता साफ़ हो जायेगी. ”AAP अयोध्या से काशी तक 12 जन. से भाजपा भगाओ भगवान बचाओ यात्रा शुरू करेगी.

About परमबीर सिंह 370 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*