डाॅ. बिपिन कुंमार 11वें विश्व हिंदी सम्मेलन में भारत सरकार के प्रतिनिधि मंडल में शामिल

लाइव सिटीज डेस्क : 11वां विश्व हिंदी सम्मेलन विदेश मंत्रालय द्वारा मॉरीशस सरकार के सहयोग से 18-20 अगस्त 2018 तक मॉरीशस में आयोजित किया जा रहा है. इस सम्मेलन का मुख्य विषय हिंदी विश्व और भारतीय संस्कृति है. सम्मेलन का आयोजन स्थल स्वामी विवेकानंद अंतर्राष्ट्रीय सभा केंद्र पाई, मॉरीशस है. इस सम्मेलन में भारत सरकार के प्रतिनिधि मंडल  में विश्व हिंदी परिषद के महासचिव डाॅ. बिपिन कुमार का नाम सूची में शामिल किया गया है तथा विश्व हिंदी के प्रवक्ता राहुल देव भी सम्मेलन में माॅरीशस जा रहे हैं.

विश्व हिंदी परिषद हिंदी के संवर्द्धन के लिए अपने स्तर पर पिछले कई वर्षों से क्षेत्रीय स्तर पर विभिन्न सरकारी एवं गैर सरकारी कार्यालयों, महाविद्यालयों, विश्वविद्यालयों में संवाद, समन्वय और सामांजस्य स्थापित कर हिन्दी का प्रचार-प्रसार विभिन्न कार्यशालाओं और गोष्ठियों के माध्यम से करती आ रही है. ऐसे कार्यक्रमों में मुख्य वक्ता रूप में राष्ट्रवादी हिन्दी विद्वानों को व्याख्यान एवं पुरस्कार के लिए आमंत्रित किया जाता है. विश्व हिन्दी परिषद राष्ट्रीय स्तर के दो कार्यक्रम हिन्दी दिवस 14 सितम्बर को और विश्व हिन्दी दिवस 10 जनवरी को आयोजन करती आ रही है. विश्व हिन्दी परिषद बहुत ही सशक्त एवं व्यवस्थित तरीके से पूरे भारत में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिए दृढ़ संकल्पित है. 

डाॅ. बिपिन कुमार, (पी.एच.डी.) प्रख्यात स्तंभ लेखक एवं राष्ट्रवादी विचारक विश्व हिन्दी परिषद के महासचिव के रूप में संस्था का सफल नेतृत्व कर रहे हैं. इससे पहले अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में सक्रिय योगदान दे चुके हैं. इन्होंने 15 से अधिक वर्षों से हिन्दी साहित्य एवं राष्ट्र भाषा की पूरे समर्पण के साथ सेवा तथा प्रादेशिक एवं राष्ट्रीय स्तर पर अनेक सम्मेलनों में विभिन्न दायित्वों का सफलतापूर्वक निर्वाहन किया है. कार्पोरेट कार्यालयों एवं विभिन्न मंत्रालयों में अतिथि व्याख्याता के रूप में आमंत्रित एवं हिन्दी भाषा में व्याख्यान दिए हैं. आकाशवाणी एवं दूरदर्शन में हिन्दी के कार्यक्रमों के अतिथि वक्ता रहे हैं. नेहरू युवा केन्द्र संगठन, भारत सरकार के विभिन्न राष्ट्रीय एवं प्रादेशिक युवा महोत्सव को संबोधित किया है. राष्ट्रीय सेवा योजना (एनण्एसण्एसण्) द्वारा आयोजित हिन्दी कार्यक्रमों में अतिथि वक्ता के रूप में सेवा दी है.

डाॅ. बिपिन कुमार ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभिन्न आनुषांगिक संगठनों में विभिन्न दायित्वों का सफल निर्वहन किया है. विश्व हिन्दी परिषद् के विभिन्न दायित्वों का निर्वाहन करते हुए हिन्दी के प्रचार-प्रसार हेतु हिन्दी दिवस समारोह, विश्व हिन्दी दिवस समारोह एवं कवि सम्मेलनों का सफल आयोजन करते आ रहे हैं. श्री रविन्द्र संगीत, भारतीय कला संस्कृति संगम जैसे दर्जनों सामाजिक सांस्कृतिक संस्थाओं से सक्रिय जुड़ाव एवं सार्थक उत्थान की दिशा में लगे हुए हैं. सामाजिक योगदान के रूप में समय-समय पर मानवताधिकार, नशा-मुक्ति, उपभोक्ता सरंक्षण, सूचना का अधिकार, बाल विकास एवं नारी उत्थान आदि विषयों पर सेमिनार/संगोष्ठी के माध्यम से जागरूकता लाने की दिशा में प्रयास कर रहे हैं.

डाॅ. बिपिन कुमार की पुस्तक ‘‘हिन्दी और समाज’’ सवका साथ, सबका विकास पुस्तक का लेखन – भारतीय विश्वविद्यालय परिसंघ तथा विश्व हिन्दी परिषद द्वारा प्रकाशित हुई है. हिन्दी दिवस पत्रक एवं विश्व हिन्दी पत्रक का नियमित प्रकाशन करते हैं. दैनिक जागरण में नियमित छपे आलेखों का संग्रह कर सम्पूर्ण योग पुस्तक का प्रकाशन एवं प्रख्यात योग गुरू स्वामी रामदेव जी द्वारा विमोचन हुआ है. मानव संसाधन विकास विभाग, बिहार सरकार द्वारा बिहार की माध्यमिक विद्यालयों के लिए पूर्व राष्ट्रपति महामहिम डाॅ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम जी की पांच पुस्तकों के साथ डाॅ. बिपिन कुमार की पुस्तक माइन्ड पावर मेमोरी की अनुशंसा हुई है.

डाॅ. बिपिन कुमार को भारतीय विश्वविद्यालय परिसंघ एवं विश्व हिन्दी विद्यापीठ के संयुक्त तत्त्वावधान में ‘‘विश्व हिन्दी सेवा सम्मान’’ – 2017 मिला है. स्वर्णिम भारत निर्माण द्वारा हिन्दी के क्षेत्र में सम्मान – 2017, साहित्य पुष्प सम्मान – 2012,  डाॅ. रामधारी सिंह दिनकर सम्मान – 2005, हिन्दी साहित्य सेवा सम्मान – 2004 इत्यादि सम्मान प्राप्त हुए हैं.

About Ranjeet Jha 2685 Articles
I am Ranjeet Jha (पत्रकार)

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*