एक अच्छी पहल: पाकिस्तान में खुला पहला ट्रांसजेंडर स्कूल, 30 ने लिया एडमिशन

ट्रांसजेंडर, एडमिशन, pakistan, school, 30 admission, देश-विदेश, समाचार, हिंदी समाचार, hindi samachar, hindi news, hindi samachar

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: वैसे तो समाज में ट्रांसजेंडर को गन्दी दृष्टि से देखते है लोग. लेकिन कुछ ऐसे भी लोग हैं हमारी समाज में जो ट्रांसजेंडर के दर्द को भलीभांति समझते हैं और उनकी मदद को हमेशा आगे रहते हैं. जी हां.. हम इनके बारे में इसीलिए बात कर रहे हैं क्यूंकि इनके लिए एक अच्छी पहल जो की गयी है. पाकिस्तान में ट्रांसजेंडर के लिए एक स्कूल खोली गयी है. और सबसे दिलचस्प बात तो यह है कि इस स्कूल में 30 लोगों ने एडमिशन भी ले लिया है. एक तरफ तो हमारा समाज ट्रांसजेंडर को तीसरे लिंक का दर्जा देने की बात करता है वहीँ दूसरी तरफ उन्हें इग्नोर भी करता है. उनसे ऐसा बर्ताव करना गलत है. क्यूंकि ये भी इंसान हैं, इनके भी जज्बात हैं, फीलिंग्स है. ऐसे में इनको अनदेखा करना कही से भी सही नहीं है.

आपको बता दें कि पाकिस्तान में ट्रांसजेंडर समुदाय के लिए पहला स्कूल खोला गया है. रिपोर्ट के मुताबिक, एक गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) एक्सप्लोरिंग फ्यूचर फाउंडेशन (ईएफएफ) ने रविवार को ‘द जेंडर गॉर्डियन’ स्कूल का उद्घाटन किया. यह ईएफएफ की इस तरह की पहली परियोजना है.

यह भी पढ़ें:

कांग्रेस का बड़ा हमला : बीजेपी अपना नाम बदलकर रख ले ‘बलात्कार जनता पार्टी’

ईएफएफ की प्रबंध निदेशक मोइजाह तारिक ने कहा, ‘स्कूल में नामांकन कराने वाले ट्रांसजेंडर समुदाय के लोगों को हम कौशल आधारित प्रशिक्षण और पाठ्यक्रम उपलब्ध कराएंगे.’ ‘डॉन’ की रिपोर्ट के अनुसार, 2017 में छठी जनसंख्या व आवास गणना में पाकिस्तान में ट्रांसजेंडर समुदाय की आबादी 10,418 बताई गई थी.

उन्होंने कहा, ‘अधिकांश ट्रांसजेंडर ने कॉस्मेटिक, फैशन डिजाइनिंग, कढ़ाई और सिलाई सीखने के साथ फैशन उद्योग में दिलचस्पी दिखाई है, जबकि कुछ ने ग्राफिक डिजाइनिंग और पाक कला में रुचि दिखाई है.’

स्कूल के मालिक आसिफ शहजाद ने कहा कि 30 लोगों ने स्कूल में दाखिले के लिए नाम लिखाया है. उन्होंने कहा, ‘इंडोनेशिया में 2016 में एक ट्रांसजेंडर स्कूल पर बम विस्फोट को देखकर मैं दहल गया था. दुनिया में किसी इस्लामिक देश में इस तरह का यह पहला स्कूल था. इसके बाद हमने उन्हें शिक्षित करने और उन्हें मुख्यधारा में लाने का फैसला किया.’

विद्यार्थियों को डिप्लोमा कोर्स कराने की योजना है, जिससे वे नौकरी कर सकें या अपना व्यवसाय शुरू कर सकें. एनजीओ इस मामले में उनकी मदद करेगा. पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में देश के ट्रांसजेंडर समुदाय की कुल 64.4 फीसदी आबादी रहती है.

देखें वीडियो:

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*