राष्ट्रपति ने भी माना- नशा एक गंभीर समस्या, बक्सर के सांसद को दी सलाह…

लाइव सिटीज डेस्क/पटना : बिहार के बक्सर से भाजपा सांसद अश्विनी कुमार चौबे से बातचीत में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने माना कि युवाओं में नशे की लत एक गंभीर समस्या है. राष्ट्रपति ने कहा कि बच्चों, युवाओं को नशे के बैड इफेक्ट की जानकारी है, लेकिन वे फिर भी इसका सेवन कर रहे हैं. इससे निजात के लिए जागरूकता कार्यक्रम चलाना काफी नहीं है. इस अभियान को गांव स्तर पर ले जाने की जरूरत है.

दरअसल भाजपा सांसद व पूर्व स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी चौबे ने प्रतिनिधि मंडल के साथ मंगलवार को दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ भेंट की. प्रतिनिधि मंडल से काफी देर तक विचार-विमर्श चला. इस दौरान सांसद ने राष्ट्रपति से देशभर में बच्चों व युवाओं को नशे के सेवन से बचाने की अपील की. उन्होंने कहा कि खासकर नशे में तंबाकू भी शामिल हैं. इसी दौरान राष्ट्रपति ने नशे के खिलाफ देश भर में अभियान चलाने की बात कही.

राष्ट्रपति ने कहा कि गांव-गांव तक नशे के खिलाफ अभियान चलाना होगा, साथ ही बच्चों व युवाओं को इस अभियान के तहत संकल्प लेना होगा कि इसका सेवन नहीं करेंगे. इस तरह के अभियान की मुहिम की जिम्मेदारी भी इनके ही हाथों में हो, तभी अभियान सार्थक होगा. इसके पहले बक्सर के सांसद अश्विनी चौबे ने राष्ट्रपति को बताया कि बिहार में स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए उन्होंने संबंध हेल्थ फांउडेशन (एसएचएफ) वायॅस ऑफ टोबैको विक्टिम के साथ मिलकर तंबाकू नियंत्रण के लिए लोकहित में काम किया था. इसके सकारात्मक परिणाम भी सामने आए. उन्होंने इस संबंध में और भी कई जानकारी दी गयी.

मौके पर संबंध हेल्थ फांउडेशन (एसएचएफ) के संजय सेठ ने बताया कि ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे (गेट्स-2) 2017 की रिपोर्ट के अनुसार भारत में 28.6 परसेंट लोग किसी न किसी रूप में तंबाकू उत्पादों का उपभोग करते हैं. प्रतिवर्ष देशभर में 10 लाख लोग इससे दम तोड़ रहे हैं. वहीं देशभर में 5500 बच्चे हर दिन तंबाकू सेवन की शुरुआत कर रहे हैं और वयस्क होने की आयु से पहले ही तंबाकू के आदी हो जाते हैं. यह बेहद चिंताजनक है. प्रतिनिधिमंडल में मैक्स हॉस्पीटल के कैंसर सर्जन डॉ हरित चतुर्वेदी व फोर्टिस के कैंसर सर्जन डॉ वेदांत काबरा, डायरेक्टर आशिमा सरीन, विभोर निझावन, अविरल चौबे, अपरमीत सिंह भी शामिल थे.

इसे भी पढ़ें : सीएम नीतीश से मिले नेपाल के पीएम, कहा- मिलकर निकालेंगे बाढ़ का हल 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*