जनसंख्या दिवस विशेष: दुनिया हो रही है बूढ़ी, 8 साल बाद भारत की आबादी होगी चीन से ज्यादा

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: दुनिया आज तेजी से बुढापे की तरफ बढ़ रही  है, ये हम नहीं कह रहे हैं बल्कि यूएन की रिपोर्ट कह रही है. दरअसल  पहली बार ऐसा हो रहा है कि 65 साल से अधिक उम्र के लोगों की आबादी पांच साल तक के बच्चों से ज्यादा हो गई है. अगर यही दर रहा तो 2050 तक  बुजुर्गों की संख्या बच्चों से दो गुनी हो जाएगी. उस वक्त बुजुर्गों की संख्या 210 करोड़ हो जाएगी.  वहीं भारत की आबादी की बात करें तो 2027 में भारत की आबादी चीन से ज्यादा 145 करोड़ हो जाएगी.

8 साल बाद आबादी के मामले में चीन को पछाड़ भारत बन जाएगा दुनिया में नंबर-वन

हिस्ट्री डेटाबेस ऑफ द ग्लोबल एनवॉयरमेंट रिपोर्ट के मुताबिक 12 हजार साल में दुनिया में जन्मे लोगों में से 7% भारत और चीन में पैदा हुए.  जबकि ईसा पूर्व 4440 से 1760 ईसवी तक भारत की आबादी चीन से ज्यादा रह चुकी है, उसके बाद फिर चीन आगे हो गया. ईसा पूर्व 10 हजार साल तक सर्वाधिक आबादी मैक्सिको में थी. ईसा पूर्व 5050 में चीनी आबादी मैक्सिको से अधिक हो गई. रिपोर्ट के मुताबिक़ अब तक 10 हजार करोड़ लोग पैदा हुए, इनमें से 9% आबादी जिंदा है. साल 1800 में पहली बार आबादी 100 करोड़ पहुंची और 1989 में 500 करोड़ पहुंची.

तेजी से हो रहा बुजुर्गों की संख्या में बढ़ोतरी

2019 में दुनिया की आबादी 770 करोड़ है, इसमें चीन का हिस्सा 19% और भारत का हिस्सा 18% है, यानी 37% आबादी सिर्फ दो देशों में हैं. रिपोर्ट के अनुसार मौजूदा दर से 2050 तक भारत की आबादी 3 करोड़ बढ़ेगी. वहीं  दुनिया का हर 10वां शख्स बुजुर्ग है, जबकि 2050 तक हर छठा शख्स बुजुर्ग होगा. तब दुनिया में बुजुर्गों की संख्या किशोरों से ज्यादा होगी. अगर हम भारत की बात करें तो 6 करोड़ लोगों की उम्र 2050 तक 80 साल से अधिक होगी. अभी 14.3 करोड़ है. रिपोर्ट के अनुसार भारत में हर सातवां शख्स 65 पार होगा.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*