पटना में लगातार 10वें साल अनोखे विवाह समारोह का आयोजन, गरीब परिवार की 51 बेटियों को मिले जीवनसाथी

लाइव सिटीज, पटना : राजधानी पटना में आज रविवार की शाम ‘एक विवाह ऐसा भी’ कार्यक्रम का लगातार 10वें साल आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम में हर साल गरीब परिवारों की 51 बेटियों का सामूहिक विवाह कराया जाता है. ‘मां वैष्णो देवी सेवा समिति’ द्वारा इस कार्यक्रम का आयोजन हर साल किया जाता है. इस साल कार्यक्रम का आयोजन पटना के श्रीकृष्ण सिंह मेमोरियल हॉल में किया गया है. आज यहां 51 जोड़े परिणय सूत्र में बंध गए. मौके पर मौजूद बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी, सुप्रसिद्ध लोकगायिका पद्म भूषण डॉ. शारदा सिन्हा और अन्य गणमान्य लोगों ने सभी जोड़ो को अपना आशीर्वाद दिया.

पटना के एसकेएम हॉल में हुए इस कार्यक्रम में भाग लेने मीडिया जगत के चर्चित शख्सियत संजय सिन्हा भी आये थे. उनके अलावा गायिका इशिता विश्वकर्मा, नेत्रहीन गायक दिवाकर शर्मा आदि भी मौजूद रहे. सभी ने उपस्थित दर्शकों के मनोरंजन के साथ ही नेत्रदान व अंगदान के लिए प्रेरित भी किया. इस दौरान मंच का संचालन आरजे शशि ने किया. इस पूरे कार्यक्रम को यहां क्लिक कर सीधे यूट्यूब पर देखा जा सकता है.

मां वैष्णो देवी सेवा सम्मान

आज संपन्न हुए कार्यक्रम के दौरान कुल पांच लोगों को मां वैष्णो देवी सेवा सम्मान – 2019 से सम्मानित किया गया. इनलोगों को डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने यह सम्मान दिया. सम्मानित होने वाली शख्सियतों में शारदा सिन्हा, गुड्डू खेतान, श्वेता शाही, पवन कुमार और आनंद दत्ता शामिल रहे. इनमें शारदा सिन्हा किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं. इनके अलावा मूल रूप से पटना के रहनेवाले गुड्डू खेतान डिजिटल मीडिया की जानीमानी हस्ती हैं. श्वेता शाही अंतर्राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी हैं तो वहीँ आनंद दत्ता और पवन कुमार को क्रमशः समाज सेवा और कला एवं संस्कृति के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए जाना जाता है.

रक्तदान, नेत्रदान और अंगदान

पटना में हर साल आयोजित किया जाने वाला यह अनोखा कार्यक्रम सिर्फ 51 जोड़ो की शादी के लिए ही नहीं जाना जाता, बल्कि कई सामाजिक सरोकारों के लिए भी अपनी प्रतिबद्धता दिखाता है. इनमें मुख्य रूप से रक्तदान, नेत्रदान और अंगदान के लिए लोगों को जागरूक कर समाज के लिए कुछ करने की प्रेरणा भी दी जाती है. आज संपन्न हुए कार्यक्रम में भी आयोजकों ने मंच पर कुछ ऐसे ही लोगों को आमंत्रित कर उनका उत्साहवर्धन किया, जिन्होंने रक्त-नेत्र या अंगदान कर समाज के सामने उदाहरण प्रस्तुत किया है.

51 जोड़ों का विवाह

‘मां वैष्णो देवी सेवा समिति’ द्वारा हर साल आयोजित किये जाने इस कार्यक्रम के द्वारा 51 ऐसी लड़कियों की शादी कराई जाती है, जिनके परिजन दहेजलोभी लोगों की कामनाओं को पूरा करने में सक्षम नहीं होते. इस पूरी प्रक्रिया में समिति के साथ—साथ समाज के प्रबुद्ध वर्ग के लोग भी अपनी ओर से अमूल्य योगदान देते हैं. शादी के बाद इन जोड़ों को हर जरूरी घरेलू सामान समिति द्वारा भेंट में दी जाती है ताकि दांपत्य जीवन की शुरूआत में उन्हें सहूलियत हो.

 

About Anjani Pandey 856 Articles
I write on Politics, Crime and everything else.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*