गोपालगंज जहरीली शराबकांड मामले में 13 लोग दोषी करार, 19 की हुई थी मौत, 5 मार्च को सजा का एलान

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क : गोपालगंज (Gopalganj) जहरीली शराबकांड (poisonous liquor case) में कोर्ट ने 15 महिला समेत कुल 13 लोगों को दोषी करार दिया है. एडीजी-2 (ADG-2) ने सभी 13 लोगों को दोषी करार दिया है. कोर्ट (Court) 5 मार्च को इसपर अपना फैसला सुनाएगी. जिन लोगों को दोषी करार दिया गया है उनमें कन्हैया पासी, लालझरी देवी, नगीना पासी, राजेश पासी, सनोज पासी, संजय पासी, इंदु देवी, कैलाशो देवी, लाल बाबू पासी, रंजन चौधरी, मुन्ना चौधरी, रीता देवी, लाल धारी देवी का नाम शामिल है. इस शराबकांड में जिन 13 लोगों को दोषी करार दिया गया है उनमें 11 लोग अभी जेल में हैं.

16 अगस्त 2016 को गोपालगंज के वार्ड नंबर 25 स्थित खजूरबानी मोहल्ले में कच्ची देसी शराब पीने से 19 लोगों की मौत हुई थी. घर-घर से लाश निकल रही थी. मरने वाले सभी गरीब परिवार के थे. कोई ठेला चलाकर परिवार का पेट पाल रहा था तो कोई सब्जी बेच कर. हर घर से चीख-पुकार की आवाजें आ रही थीं. एक साथ इतनी संख्या में मौत के बाद मोहल्ले के बाहर का कोई भी आदमी वहां जाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था. जहरीली शराब से कई लोगों की आंखों की रोशनी चली गई थी. सबसे ज्यादा मौत नोनिया टोली, पुरानी चौक और हरखुआं मोहल्ले के लोगों की हुई थी.

इस घटना के बाद थाने के सभी पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया था. 12 जून 2020 को डीजीपी ने इस मामले में 21 पुलिसकर्मियों को बर्खास्त कर दिया था. लेकिन, इस साल की 14 जनवरी को हाईकोर्ट ने इनमें से एक सब इंस्पेक्टर समेत 5 पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी का आदेश रद्द कर दिया था. हाईकोर्ट के इस आदेश के प्रभाव से बाकी के 16 पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी का आदेश भी निरस्त हो गया था.