बिहार के नेतागण सुनें ! मुंह में बहुत टट्टी जमा है, Harpic से Brush कर लें प्‍लीज

-अभिषेक आनंद-

लाइव सिटीज,पटना : बिहार में अभी वेडिंग सीजन है . विवाह-रिसेप्‍शन में लोग एक-दूसरे से मिल रहे हैं . ऐसे ही एक वेडि़ग समारोह में बुधवार 22 नवंबर की रात शामिल होने को गया था . शराबबंदी के बाद बारात में नागिन डांस का चक्‍कर नहीं रहा है . समय से बारात लग जाती है . बेटी वालों को बारातियों को बहुत दुलारना-पुचकारना नहीं पड़ता है . चोर स्‍थानों पर लोग गला तर करने को भी कम ही मिलते हैं . परिणाम, आपस में भेंट-मुलाकात बढ़े हैं . समाज-परिवार की चर्चा होती है .

रात की शादी में पटना के एलिट क्‍लास के काफी लोग जमा थे . सबसे अधिक भीड़ लिट्टी-चोखा और चिकेन करी वाले काउंटर पर . आगे के नंबर में मक्‍के की रोटी और सरसों का साग काउंटर . खैर,लिट्टी-चोखा के साथ जान-पहचान वाले लोगों की जमात में बिहार की बात शुरु होती है . जमात में बिहार के एक सीनियर आईपीएस आफिसर भी हैं . बात निकलती है बिहार के अपराध की . सवाल कि बिहार को कभी संभालने वाले आईपीएस अधिकारी दिल्‍ली के सेंट्रल डेपुटेशन से लौटना क्‍यों नहीं चाहते . पहला जवाब ही कड़ा है – बिहार में बातों के अलावा अब बचा क्‍या है . फिर दिल्‍ली से वे सभी क्‍यों बिहार आयेंगे .

लोग मानते हैं, नीतीश कुमार खुद अब भी संयमित बोलते हैं

सुशील कुमार मोदी के बेटे उत्‍कर्ष की शादी में जाकर मारपीट और तोड़-फोड़ करने की धमकी बुधवार को ही लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने दी थी . लोग कहते हैं, बिहार में अब यही सब होना है . जमात में खड़े अधिक लोग मानते हैं कि नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी अब भी बयान हो या पोलिटिकल वार, संजीदगी से करते हैं . लेकिन बाकी सब तो बाप रे बाप हैं . न जदयू बचा है और न ही राजद .

सुशील मोदी (फाइल फोटो)

बात चल रही है, तभी अब तक चुप रहे एक वकील साहब तेज बोलने लगते हैं . कहते हैं, सभी बकैती कर रहे हैं बकैती . तेजस्‍वी यादव की लड़की संग फोटो में कौन-सी बुराई थी, जो जदयू के नेताओं ने बातों का पहाड़ खड़ा कर दिया . ऐसे में, जवाब तो मिलना ही था . फिर तेज प्रताप यादव ने मिट्टी घोटाला किया है,तो आरोप लगाने वाले तो अब पावर में हैं, क्‍यों नहीं रस्‍सा बांध जेल भेज दे रहे हैं . सब सिर्फ बोलते हैं, जनता को मूर्ख समझते हैं . कोई कहता है लालू प्रसाद को श्‍मशान पहुंचा देंगे, तो कोई बोलता है नीतीश कुमार की राजनीति को मिटा देंगे .

tejashwi
तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

अब बात बालू संकट पर आ गई है . बिहार की परेशानी बताई जा रही है . घर-फ्लैट का निर्माण बंद है . टीएमटी कारखानों में प्रोडक्‍शन ठप है . जमात के एक व्‍यक्ति ने कहा, सिर्फ पालिटिक्‍स हुई है और कुछ नहीं हुआ है . बहुत हल्‍ला किया गया बालू माफिया का . लेकिन पकड़ा किसी को नहीं . अब भी आजाद है लालू यादव का दानापुर वाला बालू किंग सुभाष यादव . देखते रहिए, बालू के सरकारी ठेके सरकारी लोगों को मिलेगा . दूसरी सरकार आएगी तो कहेगी कि इसमें घपला हुआ था . पिसेगी तो सिर्फ बिहार की जनता, मौज में तो सब दिन रहेगे नेताजी लोग .

TEJ-PRATAP
तेजप्रताप यादव (फाइल फोटो)

बात बढ़ी हुई है, तो मास्‍टर साहब कैसे चुप रह सकते थे . कह रहे थे – शिक्षा मंत्री कृष्‍णनंदन वर्मा पगला गये हैं . बताइए तो हम शिक्षकों को कह रहे हैं कि ड्यूटी के पहले और बाद में जाकर खेत-रोड पर शौच कर रहे लोगों को पकडि़ए और सेल्‍फी लीजिए . ऐसा करेंगे, तो हम सभी को कोई छोड़ेगा क्‍या . फिर केन्‍द्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह जैसे लोगों का क्‍या होगा, जो सीआरपीएफ की टाइट सिक्‍योरिटी में ही सड़क पर हल्‍का होने लगते हैं . और फिर कोई दलित मिल गया, तो हम मास्‍टर साहब के खिलाफ एससी-एसटी एक्‍ट में ही केस करेगा,जिसमें बेल भी नहीं मिलेगा . सड़ते रह जायेंगे जेल में.

राधामोहन सिंह (फाइल फोटो)

अब रात को 11.15 बजे वेडिंग पार्टी से विदा होने का वक्‍त आ गया है . बतकही में लगी जमात निकलने की तैयारी में लग जाती है . सभी अपने परिवार के शेष सदस्‍यों को समारोह स्‍थल में तलाशने लग जाते हैं . अंत में एक्‍सपर्ट कमेंट वकील साहब देते हैं . बोलते हैं – अरे, कुछ नहीं, बिहार के नेताओं को Harpic से Brushकरने को कहिए,मुंह में बहुत टट्टी जमा कर लिए हैं, सब धुल जाएगा . तब शायद बिहार की बंद किस्‍मत भी फिर से खुलने लगे .

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*