3 बेटों की कोरोना से मौत, माता-पिता भी पॉजिटिव, अस्पताल में हंगामा कर रहे परिजन पहुंचे हवालात

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बांका के जिस माता-पिता ने अपने सामने अपने तीन पुत्रों को कोरोना की वजह से खो दिया, वे भी अब कोरोना के शिकार होकर जिंदगी और मौत से लड़ाई लड़ने लगे हैं।बल्लीकित्ता निवासी शशिधर कापरी और उनकी पत्नी की अचानक हालत बिगड़ने लगी। उन्हें सांस लेने में दिक्कत होने लगी। उसके बाद दोनों को अमरपुर अस्पताल लाया गया, जहां से उन्हें भागलपुर के मायागंज अस्पताल रेफर कर दिया गया। परिजन जब दोनों को लेकर अस्पताल पहुंचे तो काफी समय बीत जाने के बाद भी ऑक्सीजन नहीं मिला।

मायागंज अस्पताल में भर्ती कराये जाने के बाद भी मरीजों को ऑक्सीजन नहीं मिलने पर परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया। इसका वीडियो भी बनाया। जिसके बाद बरारी पुलिस ने मायागंज अस्पताल प्रबंधन की शिकायत पर अक्षय कुमार और छोटू कुमार को गिरफ्तार कर लिया है। अस्पताल प्रबंधन की ओर से दोनों पर प्राथमिकी दर्ज करायी गई, जिसके बाद युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

बताया जाता है कि शशिधर कापरी के मंझले बेटे निकुंज कापरी की दिल्ली में कोरोना की वजह से मोत हो गयी थी.। उन्हें आग देने के लिए बड़े पुत्र प्रमोद कापरी गये थे। वापस आने पर पॉजिटिव पाए गए और मायागंज में रविवार को मौत हो गयी थी। इससे पूर्व उनके सबसे छोटे पुत्र प्रभाष कापरी कुछ ही दिनों पूर्व देवघर से लौटे थे और पॉजिटिव हो गये थे। उनकी मौत बल्लिकित्ता में ही हो गयी थी। अब माता-पिता मायागंज में जिंदगी और मौत से लड़ाई लड़ रहे हैं।