बिहार के मुजफ्फरपुर में AES का कहर जारी, अब तक 73 बच्चों की मौत, डीएम ने की पुष्टि

मुजफ्फरपुर, लाइव सिटीज : बिहार के मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार (AES) से मरने वाले बच्चों का लगातार बढ़ता हुआ आंकड़ा राज्य सरकार और केंद्र सरकार के लिए बड़ी मुसीबत बनता जा रहा है. तमाम कोशिशों के बावजूद AES से मासूमों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. सरकारी आंकड़ें के अनुसार चमकी बुखार से 73 बच्चों की मौत हो गई है. मुजफ्फरपुर सहित कई जिलों में बुखार का प्रकोप जारी है.

मुजफ्फरपुर के डीएम ने मीडिया को बताया कि अब तक मुजफ्फरपुर में 73 बच्चों की मौत हो गई है. SKMCH में 62 बच्चों की मौत हुई है. वहीं केजरीवाल अस्पताल में 11 बच्चों की मौत हुई है. शनिवार को SKMCH में 5 बच्चों ने दम तोड़ा है.

रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री आएंगे मुजफ्फरपुर

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन रविवार को मुजफ्फरपुर आएंगे और बीमार बच्चों को देखेंगे. रविवार की सुबह 7.45 की फ्लाइट से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री पटना पहुंचेंगे. उसके बाद वे सुबह साढ़े 10 बजे मुजफ्फरपुर जायेंगे. इसके बाद वापस वे करीब डेढ़ बजे पटना लौटेंगे. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री पटना आकर बिहार सरकार के अधिकारियों के साथ बैठक भी करेंगे. बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन 13 जून को ही मुजफ्फरपुर आने वाले थे. लेकिन, किसी कारणवश वे नहीं आ पाए.

ये भी पढ़ें :केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री रविवार को आएंगे मुजफ्फरपुर, लेंगे AES के हालात का जायजा
ये भी पढ़ें : मुजफ्फरपुर : स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार मिले AES पीड़ित बच्चों से

शुक्रवार को बिहार के स्वास्थ्य मंत्री ने किया दौरा

AES से लगातार बच्चों की मौत के बाद नीतीश सरकार एक्शन में आ गई है. शुक्रवार की सुबह स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने मुजफ्फरपुर मेडिकल कॉलेज पहुंचकर इंसेफेलाइटिस वार्ड का निरीक्षण किया.मीडिया से बात करते हुए स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि डॉक्टरों को सभी महत्वपूर्ण निर्देश दिए गए हैं और बच्चों की विशेष निगरानी की जा रही है. उन्होंने कहा कि एसकेएमसीएच में 6 अतिरिक्त एंबुलेंस उपलब्ध रहेंगी और बच्चों के बेहतर इलाज के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है.

About परमबीर राजपूत 2379 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*