आदित्य मर्डर केसः सचदेवा के वकील बोले, अभी तरकश में कई तीर

लाइव सिटीज डेस्क/गयाः आदित्य सचदेवा मर्डर केस में दो गवाहों के होस्टाइल हो जाने के दूसरे दिन यहां एडीजे एसके मिश्रा की अदालत में उस वक्त खूब ड्रामेबाजी हुई. बचाव पक्ष बाकी गवाहों के बयान कराने के पीछे पड़ा रहा जबकि अभियोजन पक्ष गवाहों को पेश करने से बचता दिखा. बचाव पक्ष के अधिवक्ता सैयद क़ैसर शरीफुद्दीन ने कहा कि एक गवाह कैफी ने लिखित तौर पर बताया है कि वह अदालत में मौजूद है और गवाही देने के लिए तैयार है.

ऐसे में जब अभियोजन पक्ष के अधिवक्ता एसडीएन सिंह से पूछा गया तो वे बोले, गवाह लेट आया था और उसे उचित तैयारी के बिना कटघरे में नहीं खड़ा किया जा सकता था. अदालत ने अंततः मामले की सुनवाई 8 दिसंबर तक के लिए स्थगित कर दी. अभियोजन पक्ष ने कहा है कि अगली सुनवाई में गवाह मौजूद रहेगा.



आप जानते हैं कि बुधवार को इस मामले में दो गवाह आयुष अग्रवाल और नासिर हुसैन अदालत के आगे अपनी बात से पलट गए थे. आदित्य के इन दो दोस्तों ने 9 मई को इन दोनों ने जुडीश्यल मजिस्ट्रेट आरआर सिंह के आगे सेक्शन 164 के तहत न केवल रॉकी को नामजद किया था ब्रैंड न्यू लैंड रोवर कार के रजिस्ट्रेशन नम्बर भी दिए थे. लेकिन बुधवार को दोनों ने अदालत से कहा कि वे शूटर को जानते ही नहीं. गाड़ी का नंबर भी वे अंधेरे के कारण देख नहीं सके थे.

fotorcreated

यह भी पढ़ें-
दीदी पर जेडीयू का हमला, घोटालेबाजों का गढ़ है बंगाल

अभियोजन पक्ष के वकील ने गवाहों के होस्टाइल होने को एक बड़ा झटका माना लेकिन कहा कि इतनी सी बात से दुनिया खत्म नहीं हो जाती. अभी भी तरकश में अनेक तीर हैं. हालांकि, वकील ने इन तीरों के नाम नहीं बताए लेकिन कानून के जानकारों का कहना है कि अभियोजन को अब वैज्ञानिक साक्ष्यों का सहारा ज्यादा लेना होगा. उदाहरण के लिए रॉकी की पिस्टल और आदित्य के शरीर से निकली गोली की मैचिंग. या रॉकी के मोबाइल फोन की लोकेशन और लैंड रोवर में मौजूद धूल कणों की मौका-ए-वारदात के धूलकणों से मिलान.

उधर, आदित्य के माता-पिता पुत्र के दो मित्रों के कोर्ट में होस्टाइल होने पर क्षोभ जताया है. पिता श्याम सुंदर सचदेवा ने कहा कि हम तो जानते भी नहीं थे कि पुत्र को गोली से उड़ा दिया गया है. हमें तो इन्हीं चार लड़कों ने यह जानकारी दी थी. एफआइआर इन्हीं चार लड़कों के बयान के आधार पर दर्ज हुआ था. अब इन्हीं में दो होस्टाइल हो गए हैं. सोचने और चिंता करने की बात है कि ये दोनों किसी धमकी से भयभीत तो नहीं. सचदेवा बोले “बयान बदलना न्यायपालिका का मज़ाक तो है ही यह बयान दोस्ती पर धब्बा भी लगाता है”.

Gaya: Aditya Sachdeva's parents at their residence in Gaya on Friday after the bail plea of Rocky Yadav, accused of killing Aditya, was cancelled by the Supreme Court. PTI Photo (PTI10_28_2016_000118B)