लालू बोले, कभी देखा है ऐसा फ़क़ीर…

पटनाः “मैं तो फक़ीर हूं. झोला उठा कर चल दूंगा.” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुरादाबाद-भाषण में बोले गए इस वाक्य पर ट्विटर जगत में ज़बर्दस्त प्रतिक्रिया हुई है. कुछ रिएक्शन बहुत तीखे हैं तो कुछ गुदगुदाने वाले. इनमें राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का रिएक्शन सर्वाधिक तार्किक और सटीक है. लालू पूछते हैः क्या कभी किसी फ़कीर ने यह कहा है कि, “व्यापार मेरे खून में है”? फ़कीरी और व्यापार साथ-साथ? फ़कीर अपनी फ़कीरी का ‘ज़िक्र’ नही ‘फ़िक्र’ करते है. लालू, दरअसल, पीएम को उनका एक बयान याद दिला रहे हैं, जिसमें उन्होंने खुद को गुजराती बताते हुए कहा था कि व्यापार तो मेरे खून में है.

ट्विटर पर खूब सक्रिय रहने वाली डॉ मीसा भारती ने पीएम के बयान पर खुद ट्वीट करने के बजाए किसी और का ट्वीट रीट्वीट किया है. इस ट्वीट में एक तरफ घुटनों तक धोती पहने नंगे बदन महात्मा गांधी का चित्र है और दूसरी ओर नरेंद्र मोदी के चित्रों का एक कोलाज है, जिसमें पीएम विभिन्न परिधानों में दिखाई दे रहे हैं. साथ में दो कैप्शन हैः दिल से अमीर और मन से फक़ीर.misaउधर, कांग्रेस प्रवक्ता संजय झा ने अपने दो ट्वीट्स में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश और भावी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप का जिक्र करते हुए कहा है कि पीएम के बयान पर सब हंस रहे हैं. उनका बयान बुश के अटपटे बयानों की याद दिलाता है. झा लिखते हैं कि मोदी जी की आत्मकेंद्रता को देख ट्रम्प भी शर्म से लाल हो उठेंगे.

यह भी पढ़ें-
और जेल से छूट गईं घोटाले में शामिल लालकेश्वर की पत्नी उषा

एक ट्वीट किन्हीं कथित विजय माल्या ने भी किया है, जिसमें मोदी जी की मुकेश अम्बानी और उनकी पत्नी के साथ एक फोटो लगा कर कैप्शन दिया गया हैः कम्पनी आव फ़कीर्स.