नाराज ABVP ने फूंका नीतीश-सुशील मोदी का पुतला, सरकार पर लगाया तानाशाही का आरोप

लाइव सिटीज, बाढ़ : अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के पटना स्थित प्रदेश कार्यालय पर शुक्रवार को देर रात हुई पुलिस छापामारी से नाराज कार्यकर्ताओं ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी का पुतला फूंका और विरोध में नारेबाजी की. उग्र छात्रों ने पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में नीतीश सरकार पर तानाशाही और सरकारी व्यवस्था का दुरुपयोग करने का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया. ABVP कार्यकर्ताओ ने कॉलेज गेट से नारेबाजी करते हुए हॉस्पिटल चौक पर सरकार विरोधी नारे लगाते हुए पुतला दहन किया.

आक्रोशित कार्यकर्ताओं का कहना था कि नीतीश कुमार और सुशील मोदी ने सत्ता का इस्तेमाल कर पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव में ABVP के छात्रों पर फर्जी मुकदमा करा प्रांत कार्यालय में छापा मरवाया. इसके अलावा धनबल और बाहुबल के माध्यम से छात्रों के अंदर भय पैदा कर छात्र संघ में जीत के लिए सत्ता का दुरुपयोग कर रहे हैं.

इस दौरान छात्र नेताओं ने कहा कि सरकार की मिलीभगत से रात के 2:00 बजे छापेमारी की गई है. इसकी जितनी भी निंदा की जाए, वह कम है. इसके पूर्व कभी इस तरह की कार्रवाई का कोई इतिहास नहीं है.

प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मुरली मनोहर मंजुल ने कहा कि ABVP इस तरह की निंदनीय कार्रवाई बर्दाश्त नहीं करेगी. आने वाले समय में सरकार के खिलाफ उग्र छात्र आंदोलन की शुरुआत होगी. सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी की मिलीभगत से छापेमारी हुई है. कॉलेज उपाध्यक्ष ऋषि कुमार ने कहा कि सत्ता का प्रयोग करके भी जदयू पटना यूनिवर्सिटी में हो रहे चुनाव में अपने छात्र नेताओं को नहीं जीता पाएगा.

इस मौके पर सौरव कुमार, नीतीश कुमार, आशिष सोलंकी, राधे भाई, रोहित कुमार, अंशु कुमार, रौशन कुमार, अभिषेक कुमार, मणिभ कुमार, सूरज कुमार, आकाश भारद्वाज, अंकित कुमार, ऋषि कुमार, गोविंद कुमार, दीपक कुमार, टुनटुन कुमार, अविनाश कुमार राजा, सचिन कुमार, नीरज कुमार आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे.