Airtel, Idea और Vodafone बंद कर सकते हैं अपने 200 मिलियन यूजर्स की सर्विस, जानिए क्या है कारण

mobile-users
mobile-users

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: अगर आप भी एयरटेल, वोडाफोन और आईडिया के सिम यूजरर्स हैं तो आपके लिए बड़ी खबर आ रहीं है. जानकारी के अनुसार ये तीनों ही मोबाइल नेटवर्क अपने 200 मिलियन यूजर्स की सर्विस बंद करने जा रही है. जानकारी के अनुसार ये सभी नेटवर्क्स अपने आरपू यानी कि ऐसे यूजर्स जो एवरेज कम इस्तेमाल करते हैं कि सर्विस खत्म कर रही है. ऐसे में करीब 250 मिलियन से ज्यादा 2जी यूजर्स इससे प्रभावित होंगे.

औसतन 35 रुपये महीने से कम खर्च पर सर्विस बंद

प्राप्त जानकारी के अनुसार ये नेटवर्क्स औसतन 35रुपये से कम का रिचार्ज करनेवाले यूजरों को लेकर ये कदम उठा रहे हैं. एयरटेल के पास अभी 100 मिलियन के आसपास ऐसे यूजर्स हैं जो हर महीने 35 रुपये से कम का रिचार्ज कराते हैं. वही वोडाफोन और आईडिया की बात करें तो इनके पास 150 मिलियन से ज्यादा यूजर्स हैं. ये हाल तब है जब एयरटेल ने पैन इंडिया में 35रुपये के सात रिचार्ज उपलब्ध कराएं है.वही वोडाफोन के पास भी 5 कम रुपये के रिचार्ज हैं जिसमें सबसे कम 35 रुपये का है.

एयरटेल के सीईओ के गोपाल विठ्ठल ने कहा कि उनके पास 300 मिलियन से ज्यादा वायरलेस यूजर्स ऐसे हैं. लेकिन इनमें से भी 100 मिलियन वे हैं जिन्हें हमने टेलीनॉर से एक्वायर किया था. ये यूजर्स इसी श्रेणी में हैं. ये लोग औसत यूस की सीमा से बाहर हैं. वहीं वोडाफोन के सीईओ बलेस शर्मा का कहना है कि कम आरपू वाले कस्टमर्स ज्यादातर अनलिमिटेड प्लान की ओर मूव कर रहे हैं, लेकिन कुछ ऐसे यूजर्स भी हैं जो हमें एक रुपया भी नहीं दे रहे हैं.

आपको बता दे कि इन 200 मिलियन यूजर्स से इन कंपनियों को महज 10 रुपये ही महीने औसतन मिल पाता हैं. अगर ये यूजर्स इस औसत को बरकरार रखते हैं तो इन कंपनियों को महज 100 करोड़ महीना ही रेवेन्यू मिल पायेगा. वहीं अगर ये यूजर्स हर महीने 35 का औसत बरकरार रखते हैं तो इन्हें 175 करोड़ का रेवेन्यू मिलेंग. यहीं कारण है कि इन ​कंपनियों ने ऐसे यूजर्स की सर्विस बंद करने की बात कही है जो औसतन हर महीने 35 रुपये का रिचार्ज नही करा पाते.

200 मिलियन वाले ये कस्टमर्स वे लोग हैं तो ड्यूल सिम यूज करते हैं. ऐसे में ये यूजर्स एक सिम को प्राइमरी तौर पर यूज करते हैं तो वही दूसरे को सेकेंडरी के रुप में. सेकेंडरी सिम में यूजर्स सिर्फ इनकमिंग कॉल्स आए इसके लिए रिचार्ज कराते हैं. ऐसे में कंपनियों को घाटा होता है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*