लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: आज के वक्त में पैसों की निकासी के लिए एटीएम कार्ड सबसे ज्यादा प्रयोग किये जाते हैं.  एटीएम के बढ़ते प्रयोग के एटीएम फ्रॉड के केस भी बढ़ते जा रहे है. इस तरह की धोखाधड़ी को रोकने के लिए दिल्ली स्टेट लेवल बैंकर्स कमेटी ( SLBC ) ने नए नियम बनाए हैं. दिल्ली के स्टेट लेवल बैंकर्स कमेटी के नए नियम के अनुसार अब 2 एटीएम ट्रांजैक्शन के बीच में 6 से 12 घंटे का समय रखने का सुझाव दिया गया है. इस प्रस्ताव की स्वीकृति मिल जाती है तो देश में हो रही धोखाधड़ी को रोका जा सकता है.

आपको बता दें कि एटीएम से लगातार बढ़ते फ्रॉड के मामले को देखते हुए केनरा बैंक ने अपने ग्राहकों की सुविधा के लिए नया फीचर शुरू किया है. इसके तहत बिना OTP के ग्राहक अपने अकाउंट से 10000 रुपए से ज्यादा रकम नहीं निकाल सकेंगे. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के डिप्टी जनरल मैनेजर सुरेश नायर के मुताबिक ये एक बेहतरीन कदम है, जिससे एटीएम फ्रॉड को रोकने में काफी मदद मिलेगी. इसको लेकर उन्होंने कहा है कि जल्द ही स्टेट बैंक भी एटीएम ट्रांजेक्शन पर OTP जरूरी करने वाला है जिससे एटीएम फ्राड रोकने में मदद मिलेगी.

वहीं केनरा बैंक ने भी एटीएम से पैसे निकालने के नियम में बदलाव किया है. नए नियम के तहत 10000 रुपए से ज्यादा रकम एटीएम से निकालने पर आपको OTP नंबर चाहिए होगा. आपको ATM पिन नंबर के साथ OTP पासवर्ड भी डालना होगा. बैंक एटीएम ट्रांज़ैक्शन पर रजिस्टर्ड फोन नंबर पर ही OTP भेजेगा, जिसे इंटर करने के बाद ही आप पैसा निकाल सकेंगे. यानी अगर आप केनरा बैंक के ग्राहक हैं और एटीम कार्ड से 10000 रुपए से ज्यादा विड्रॉअल करना चाहते है, तो ATM ट्रांज़ैक्शन के वक्त अपना मोबाइल फोन अपने साथ जरूर रखें, वरना आप कैश नहीं निकाल पाएंगे.

माना जा रहा है कि जल्द ही कई दूसरे बैंक भी एटीएम ट्रांज़ैक्शन पर OTP अनिवार्य कर सकते हैं. वहीं एटीएम के जरिए फर्जीवाड़े को रोकने के लिए नया कदम उठाया जा रहा है. जिसके तहत दिल्ली स्टेट लेवल बैंकर्स कमिटी (SLBC) ने कुछ उपाय सुझाए हैं, कमिटी ने 2 एटीएम ट्रांजैक्शन के बीच में 6 से 12 घंटे का समय रखने का सुझाव दिया है, अगर इस प्रस्ताव को मान लिया जाता है तो आपको एटीएम से पैसे निकालने के लिए 6-12 घंटे का वक्त लग सकता है, हालांकि ये सुझाव अभी केवल प्राथमिक स्तर का है।