बिहार के रमाशंकर पांडेय दुनिया में अलख जगाए हैं- ‘ए भाई जरा देख के चलो’, हम कब जगेंगे ?

लाइव सिटीज, पटना : भारत में सड़क हादसे बेहद आम हैं. देश भर में हर रोज लगभग 1300 सड़क हादसे होते हैं. ये हादसे 400 लोगों की मौत का कारण बन जाते हैं. सड़क हादसों की वजह से आर्थिक के साथ ही सामाजिक नुकसान भी होता है. आर्थिक हानि की बात करें तो सड़क दुर्घटना से ही सालाना 20 अरब डॉलर का नुकसान होता है. एक वेबसाइट के मुताबिक दुनिया के कुल हादसों के 10 प्रतिशत हादसें सिर्फ भारत में ही होते हैं. सुप्रीम कोर्ट ने रोड सेफ्टी के लिए कई कमिटी के साथ ही नए नियम भी बनाए हैं. सुप्रीम कोर्ट ने हाईवे मिनिस्ट्री को रोड सेफ्टी के लिए पर्याप्त सड़कें और इंफ्रास्ट्रक्टर की व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया है. लेकिन सड़क हादसों में कमी अभी तक नहीं आई है.

रोड सेफ्टी की अलख जगा रही है Hella



Hella India का विज्ञापन.

रोड सेफ्टी की इस मुहिम में देश की बड़ी ऑटोमोटिव पार्ट्स कंपनी Hella India Automotive Pvt. Ltd. भी शामिल है. Hella India के मैनेजिंग डायरेक्टर रमाशंकर पांडेय इस मुहिम के अगुआ हैं. रमाशंकर  पांडेय बिहार के मधुबनी जिले के रहने वाले हैं. रमाशंकर  पांडेय भारत के यंग कारपोरेट सीईओ में से एक हैं. उन्होंने साल 2010 में Hella India लाइटिंग लिमिटेड के प्रबंध निदेशक की जिम्मेदारी संभाली थी. इसके अलावा वे हेला जर्मनी के OE Division को भी संभालते हैं.

कम उम्र में ही ऑटोमोटिव इंडस्ट्री में बनाई पहचान

ACMA Summit में रमाशंकर पांडेय

रमाशंकर  पांडेय की प्रसिद्धि किसी परिचय की मोहताज नहीं है. ‘#StopKillerOnWheels’ सड़क हादसे से हो रही मौतों पर उनके विचार बेहद क्रांतिकारी हैं. पांडेय विभिन्न मंचों से अपने सुझाव और विचार देते आए हैं. पांडेय वर्तमान में ACMA आफ्टर मार्केट कमेटी के चेयरमैन एवं ‘ड्राइव स्मार्ट – ड्राइव सेफ’ संस्था के पदेन अध्यक्ष भी हैं. उन्हें 2016 में एशिया पैसिफिक एंटरप्रेन्योर अवार्ड से भी सम्मानित किया गया था. रमाशंकर  पांडेय ने बेहद कम उम्र में ही ऑटोमोटिव इंडस्ट्री में और पहचान बनाई है. उन्हें इस क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए भी जाना जाता हैं.

Hella India के मैनेजिंग डायरेक्टर रमाशंकर पांडेय

रमाशंकर  पांडेय की शिक्षा भारत और विश्व के कई बेहतरीन यूनिवर्सटी से हुई है. रमाशंकर पांडेय ने NIT कालीकट, ICFAI हैदराबाद और IIM बैंगलोर के पूर्व छात्र रह चुके हैं. बाद में उन्होंने कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी, बर्कले की सिलिकॉन वैली से Global Advance Management Program  की पढ़ाई की हैं.

प्रोफेशन के साथ सोशल एक्टिविजम भी

एशिया वन इंडिया ग्रेटेस्ट लीडर अवार्ड से सम्मानित

ऑटोमोटिव कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर रहते हुए भी रमाशंकर  पांडेय हमेशा से ही रोड सेफ्टी को लेकर संजीदा रहे हैं. उन्होंने लोगों को रोड सेफ्टी पर जागरूक करने के लिए कई काम किए हैं. जिनमें रोड-स्मार्ट, ड्राइव सेफ, संगठन के साथ जुड़कर सड़क सुरक्षा जागरूकता अभियान चलाने और ड्राइविंग के दौरान ट्रैफिक रूल्स और सड़क दुर्घटनाओं से बचाव के लिए लोगों को सक्रिय रूप से जागरूक किया है. इस वजह से उनकी छवि एक प्रोफेशन मैनेजिंग डायरेक्टर के अलावा सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में भी हैं.

क्या है Hella India ?

रमाशंकर पांडेय पुरस्कार लेते हुए.

हेला इंडिया भारत मे ऑटोमोटिव पार्ट्स की बड़ी निर्माता कंपनी है. Hella की प्रोडक्ट्स रेंज में हॉर्न, एलईडी हेड और टेल लैम्पस, लाइट और अन्य उपकरण भारतीय आफ्टर मार्केट में काफी लोकप्रिय हैं. Hella मूलतः जर्मन मल्टीनेशनल कंपनी है. विश्व के 36 देशों में 100 से भी अधिक जगहों पर इसके 36000 से ज्यादा कर्मचारी कार्यरत हैं. रमाशंकर  पांडेय “रोड सेफ्टी” और सड़क पर होने वाली दुर्घटनाओं को कम करने के मिशन और उसके लिए जरूरी और बेहतर विकल्पों पर काम कर रहे हैं.

 (Powered)