सीबीएसई : 10वीं और 12वीं के मार्किंग स्कीम में बदलाव, अब इनोवेटिव आंसर पर मिलेंगे ज्यादा मार्क्स

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स द्वारा दिये जा रहे आंसर शीट के मार्किंग में कुछ बदलाव किए हैं. बता दें कि अभी पिछले हफ्ते ही बिहार बोर्ड ने नकल रोकने के लिए एक्जाम हॉल में जूते-मौजे पहनने पर रोक लगा दी थी. उसके बाद अब सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा के मार्किंग स्कीम में बदलाव किया है. बता दें कि अब 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा में इनोवेटिव जवाब देने वाले परीक्षार्थियों को अधिक अंक मिलेगा.

जी हां, अगर छात्र रटे-रटाये उत्तर से अलग हटकर अपने अनुभव के अनुसार उत्तर देते हैं तो इस इनोवेटिव उत्तर पर उन्हें परीक्षक अतिरिक्त अंक देंगे. बोर्ड ने अपनी मार्किंग स्कीम में यह बदलाव किया है. इस बार परीक्षकों को इसकी जानकारी दी जा रही है. अतिरिक्त अंक के तौर पर परीक्षक पांच अंक तक दे सकते हैं.

मिलेगा प्रोत्साहन

बोर्ड परीक्षा में इस बार पहले से चले आ रहे पारंपरिक सवाल के उत्तर को अधिक प्राथमिकता नहीं दी जायेगी. अलग हटकर जवाब देने वाले को इस बार प्रोत्साहित किया जायेगा. बोर्ड की मानें तो अभी तक इनोवेटिव या अलग हटकर जवाब देने वाले छात्र और पारंपरिक जवाब देने वाले छात्रों को एक जैसा अंक दिया जाता था. इससे कहीं न कहीं अच्छे छात्रों को नुकसान होता था. इस बदलाव से अब अच्छे से तैयारी करने वाले छात्रों को फायदा होगा.

टॉपिक समझ कर उत्तर करें तैयार

परीक्षा शुरू होने से पहले इसकी जानकारी छात्रों को भी दी गयी है. इससे छात्र अपनी तैयारी में भी इसका ख्याल रख सकते हैं. स्कूल के माध्यम से छात्रों को यह बताया गया है. नॉट्रडेम एकेडमी की शिक्षिका आभा चौधरी ने बताया कि इस सिस्टम से छात्रों को टॉपिक्स को समझकर अपने शब्दों में उत्तर लिखने की कला सिखाई गयी है. इसके लिए स्कूल स्तर पर महत्वपूर्ण चैप्टर के कई टॉपिक्स को लिख कर रिवीजन भी करवाया गया है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*