चिराग पासवान ने फिर दी उपेंद्र कुशवाहा को नसीहत – दो नाव पर न करें सवारी

लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर अभी से ही रणनीति बननी शुरू हो गई है. सीट शेयरिंग पर आरोप-प्रत्यारोप के साथ जोड़तोड़ की भी राजनीति शुरू हो गई है. आपको बता दें कि बिहार में सियासी हलचल तेज होने लगी है. सीट शेयरिंग को लेकर एनडीए में जारी उठापटक के बीच लोजपा सांसद चिराग पासवान ने रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा को दो नाव पर नहीं चढ़ने की नसीहत दी है. उन्होंने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा को अपने ही गठबंधन के सहयोगियों के खिलाफ तंज कसना ठीक नहीं है.

सोमवार को पटना में लोजपा सांसद चिराग पासवान ने पत्रकारों से खुलकर कहा कि अगर उपेंद्र कुशवाहा NDA से जाना चाहते हैं. लेकिन कुशवाहा का सीट बटवारा के मु्द्दे पर डेडलाइन और अल्टीमेटम देना सही नहीं है. उन्होंने आगे कहा कि उपेंद्र दबाव की राजनीती कर रहे हैं जो सही नहीं है. वहीं उन्होंने भाजपा को जल्द ही सीटों का ऐलान करने को कहा.

जब चिराग से राम मंदिर मामले पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि यह मुद्दा भाजपा का एजेंडा है. राममंदिर का हाल कोर्ट के जरिये ही निकले. अगर भाजपा राम मंदिर को लेकर अध्यादेश या बिल लाना चाहती है तो पहले NDA के सभी दलों से बातचीत करनी चाहिए.

आपको बता दें कि रालोसपा अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री नीतीश कुमार के बयान से नाराज चल रहे हैं. वहीं कुशवाहा लोकसभा चुनाव में मिलने वाली सीटों की संख्या से भी संतुष्ट नहीं है. नीतीश और सीट शेयरिंग मामले पर कुशवाहा दिल्ली भी गए थे. लेकिन उनकी मुलकात बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह नहीं हो सकी. दिल्ली से लौटने का बाद रालोसपा अध्यक्ष ने भाजपा को 30 नवंबर तक का अल्टीमेटम दें दिए हैं.

वन-वे ट्रैफिक चल रहा है – चिराग

इससे पहले भी चिराग पासवान ने उपेंद्र कुशवाहा को सलाह दिया था. 12 नवंबर को उन्होंने कहा था कि उपेंद्र कुशवाहा को ये सब बात पब्लिक डोमेन में नहीं रखना चाहिए. उपेंद्र कुशवाहा पर बोलते हुए चिराग ने कहा था कि NDA के रहकर विपक्ष के नेता से मिलना गलत है. कोई भी बयान देने से पहले आपस में बैठक कर बात करनी चाहिए. उनका वन-वे ट्रैफिक चल रहा है.

About परमबीर सिंह 1180 Articles
राजनीति, क्राइम और खेलकूद....

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*