लाइव सिटीज, सेंट्रल डेस्क: बिहार के सीएम नीतीश कुमार बांका प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत सोनारी स्थित एक्मे कंपनी का सोलर प्लांट व ककवारा उच्च विद्यालय में बांका उन्नयन के तहत संचालित स्मार्ट क्लासेस से अवगत होने आये थे. नीतीश कुमार ने कहा कि हर घर बिजली कनेक्शन का निश्चय पूरा कर लिया गया है. अब सूबे में सोलर एनर्जी विकसित किया जायेगा, ताकि पावर ग्रिड पर आत्मनिर्भर नहीं होना पड़े. पर्यावरण के प्रति उनकी अपनी संवदेना है, इसको देखते हुए सूर्य की ऊर्जा को बिजली के रूप में उपयोग करने की योजना है.

थर्मल पावर प्लांट अक्षय नहीं है. यह कभी न कभी बंद हो जायेगा. अगर दुनिया से कोयला समाप्त हो जायेगा, तो कैसे थर्मल पावर प्लांट चलेगा. इसीलिए अक्षय ऊर्जा तो सौर ऊर्जा ही है. चूंकि पृथ्वी का भविष्य सूर्य पर निर्भर है, इसीलिए सूबे में सोलर एनर्जी को विकसित किया जायेगा. सभी जिले में सोलर प्लांट स्थापित किया जायेगा.

दोनों योजनाओं के निरीक्षण के बाद मुख्यमंत्री ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि सोनारी स्थित 25 मेगावाट सोलर प्लांट बेहद प्रभावशाली है. इसको देखने के बाद उन्होंने थर्मल पावर के लिए चिन्हित दो स्थानों पर भी सोलर प्लांट लगाने का मन बना लिया है.

साथ ही बांका के सौर ऊर्जा को सूबे के अन्य जिले में उतारने के लिए नीति तैयार करते हुए निर्देश दिया है. 2015 में ही सौर्य ऊर्जा से विद्युत उत्पादन की योजना बनी थी. 2016 में इसपर काम शुरू हो गया है.